भारतीय वायुसेना को दिखाई दिया लापता Aircraft एएन-32 का संभावित मलबा

ईटानगर। भारतीय वायुसेना (IAF) को अरुणाचल प्रदेश के सियांग जिले में कुछ मलबा दिखाई दिया है। आशंका जताई जा रही है कि यह मलबा लापता Aircraft एएन-32 का है, हालांकि अभी इस पर कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है। एक न्यूज़ चैनल के अनुसार अरुणाचल प्रदेश के सियांग जिले के एक गांव में भारतीय वायुसेना के चॉपर एमआई-17 को मलबे जैसा कुछ दिखाई दिया है। इसके बाद आईएएफ ने अरुणाचल प्रदेश पुलिस को इस बारे में आगाह किया है। यह ऐसा इलाका है कि द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान गिरे Aircraft के मलबे अब तक मिल रहे हैं। इसी साल फरवरी में ईस्ट अरुणाचल प्रदेश के रोइंग जिले में 75 साल से लापता एक हवाई जहाज का मलबा मिला। यह अमेरिकी वायुसेना का Aircraft था जो दूसरे विश्वयुद्ध के दौरान चीन में जापानियों के खिलाफ लड़ाई में मदद करने के लिए असम के दिनजान एयरफील्ड से उड़ा था। इस Aircraft के मलबे में कुछ चीजें बिल्कुल ठीक हालत में मिलीं। Aircraft में बड़ी संख्या में गोलियों के अलावा, एक चम्मच, कैमरों के लेंस के अलावा ऊनी दस्ताना भी सुरक्षित मिला।
मंगलवार दोपहर में इंडियन एयरफोर्स ने ट्वीट किया, ‘लापता एएन-32 Aircraft का मलबा लिपो से 16 किलोमीटर दूर दिखा है। एमआई-17 हेलिकॉप्टर को सर्च ऑपरेशन के दौरान करीब 12 हजार फीट ऊंचाई पर टाटो के उत्तर-पूर्व में यह मलबा दिखाई दिया है।’
एयरक्राफ्ट के लापता होने के बाद से ही भारतीय वायुसेना का चॉपर एमआई 17 इलाके में छानबीन में लगा हुआ था। मंगलवार दोपहर को सियांग जिले के गेट गांव के पास एमआई 17 को विमान के मलबे जैसा कुछ दिखाई दिया।
बता दें कि क्रू मेंबर सहित एयरफोर्स के 13 लोगों के साथ एएन- 32 ने 3 जून को असम के एयरबेस से उड़ान भरी थी और उससे आखिरी संपर्क उसी दिन में करीब 1 बजे हुआ था। इसके बाद से एयरक्राफ्ट से किसी भी तरह का संपर्क नहीं हो पाया। वह अरुणाचल प्रदेश के मेचुका घाटी में स्थित मेचुका एडवांस्ड लैंडिंग ग्राउंड जा रहा था।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »