उत्तर प्रदेश के वृंदावन क्षेत्र में प्रदूषण की स्थिति सबसे खराब

मौसम की करवट का असर उत्तर प्रदेश में देखने को मिल रहा है। ठंड की आहट के साथ ही प्रदूषण का स्तर भी चिंता पैदा कर रहा है। प्रदेश के कई शहरों में प्रदूषण का स्तर कई गुना बढ़ गया है। देश की राजधानी दिल्ली से सटे इलाकों के साथ ही लखनऊ, कानपुर, प्रयागराज, गोरखपुर जैसे शहरों में भी वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) हानिकरक स्तर पर पहुंच गया है।
उत्तर प्रदेश में मथुरा के वृंदावन क्षेत्र में प्रदूषण की स्थिति सबसे खराब है। इसके अलावा आगरा, गाजियाबाद, नोएडा, बुलंदशहर की हवा जहरीली बन गई है। राजधानी लखनऊ में शनिवार की सुबह धुंध की स्थिति रही। यहां AQI 320 के हानिकारक स्तर पर दर्ज किया गया। वहीं गोरखपुर में 296 AQI लेवल रेकॉर्ड किया गया।
दिल्ली से सटे नोएडा में तो शनिवार को AQI 772 के गंभीर स्तर पर दर्ज किया गया। वहीं गाजियाबाद भी पिछले कुछ दिनों से गैस चैंबर बनी हुई है। दिवाली के बाद गाजियाबाद का एक्यूआई लेवल 999 के खतरनाक स्तर पर चला गया था। शनिवार को भी कोहरे के बीच वायु गुणवत्ता खराब स्तर पर रही।
घनी कोहरे की परत के बीच मुरादाबाद में भी प्रदूषण का हानिकारक स्तर रहा। यही हाल औद्योगिक नगरी कानपुर में भी है। यहां AQI 314 दर्ज किया गया। प्रयागराज की बात करें तो यहां पर कोहरे के बीच एयर क्वालिटी इंडेक्स 308 रहा। हालांकि वाराणसी की हवाओं में कुछ सुधार हुआ है। यहां शनिवार को AQI 250 के लेवल पर रहा।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *