BSF जवान की शहादत पर राजनीति शुरू, कांग्रेस और ‘आप’ ने लगाए सरकार पर आरोप

सोनीपत। BSF के जवान नरेंद्र सिंह की शहादत पर अब राजनीति शुरू हो गई है। कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने आरोप लगाया कि सरकार सेना का राजनीतिक फायदों के लिए इस्तेमाल कर रही है। वहीं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने लगातार जवानों पर हमलों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सवाल किए हैं।
यूं जम्मू-कश्मीर में जम्मू क्षेत्र के इंटरनेशनल बॉर्डर पर पाकिस्तानी रेंजर द्वारा BSF जवान नरेंद्र सिंह की बर्बरता के साथ हत्या से देशभर में तनाव है।
घटना के बाद सुरक्षा बलों ने 192 किमी लंबे इंटरनेशनल बॉर्डर और 740 किमी लंबी नियंत्रण रेखा पर हाई अलर्ट जारी कर दिया गया।
कांग्रेस प्रवक्ता आर सुरजेवाला ने कहा, ‘पहले हेमराज, अब नरेंद्र सिंह। पाकिस्तान ने उसे बर्बरतापूर्ण मार दिया। सरकार क्या कर रही है? मोदी जी क्या आपकी आपको झकझोर नहीं रही?’ उन्होंने आगे कहा, ‘कहां गया 56 इंच का सीना और कहां गई लाल आंख? कहां गया 1 के बदले 10 सिर लाने का वादा? सरकार जवानों के लिए चिंतित नहीं है। मोदी जी हमारी सेना को राजनैतिक फायदों के लिए इस्तेमाल कर रहे हैं लेकिन उनकी सुरक्षा के लिए नहीं सोचते। देश जवाब मांगता है और आपको जवाब देना होगा।’
वहीं कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता मनीष तिवारी ने कहा, ‘सरकार को कड़ा कदम उठाना होगा।’ उन्होंने एनडीए की पाकिस्तान पॉलिसी की आलोचना करते हुए कहा, ‘यह समय बयानबाजी का नहीं है जो आप विपक्ष में रहकर करते थे। आज आप सत्ता में हैं। आज आप सरकार हैं आपको देश के आक्रोश का जवाब देना होगा। समय आ गया है कि कार्यवही हो न कि बयानबाजी।’
‘क्यों मजबूर हैं पीएम मोदी?’
वहीं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट किया, ‘प्रधानमंत्री जी जवाब दें कि आख़िर कब तक भारत के सैनिकों पर अत्याचार जारी रहेगा? कब तक भारत पाकिस्तान के सामने बेबस रहेगा? आखिर क्या मजबूरियां हैं प्रधानमंत्री जी की?’ आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि हेड कॉन्स्टेबल नरेंद्र सिंह के शरीर में तीन गोलियों के निशान भी मिले हैं, वहीं उनका गला रेता हुआ था। शव की हालत देखकर कहा जा रहा है कि उन्हें काफी यातनाएं देकर मारा गया। नरेंद्र का शव छह घंटे के बाद भारत पाक बाड़ के आगे मिल पाया।
आईबी पर घास काटने गए थे बीएसएफ के जवान
अधिकारियों ने बताया कि बीएसएफ के गश्ती दल को मंगलवार की सुबह मैदान में लगी सरकंडे की लंबी-लंबी घास काटने के लिए बाड़ के आगे जाना पड़ा था। इस दौरान 36 चेनाब पाकिस्तानी रेंजर्स ने बीएसएफ के दल पर पहली बार सुबह 10 बज कर करीब 40 मिनट पर गोली चलाई गई। जिसके बाद एक बीएसएफ का जवान लापता हो गया। इसके बाद उसके शव का पता लगाने के लिए दिन भर भारतीय पक्ष की ओर से सीमा के दूसरी ओर फोन करने और संवाद के आदान-प्रदान करने का सिलसिला चलता रहा।
पाकिस्तान ने बनाया बहाना
इस दौरान बीएसएफ ने पाकिस्तानी पक्ष से लापता जवान को ढूंढने के लिए संयुक्त गश्त में शामिल होने के कहा था लेकिन पाक रेंजर्स ने एक स्थान तक आने के बाद समन्वित कार्यवाही में शामिल न हो पाने के लिए इलाके में पानी जमा होने का बहाना बना दिया। तब बीएसएफ ने सूर्यास्त का इंतजार किया और जवान का शव चौकी तक लाने के लिए अभियान शुरू किया।
स्मार्ट फेंसिंग की लॉन्चिंग के एक दिन बाद हुई घटना
यह घटना गृहमंत्री राजनाथ सिंह के स्मार्ट फेंसिंग प्रॉजेक्ट लॉन्चिंग के एक दिन बाद हुई। इसे जम्मू में आईबी पर 5.5 किलोमीटर क्षेत्र में लगाया गया है जिसे अपनी तरह की पहला हाइटेक निगरानी प्रणाली बताया जा रहा है। इसके जमीन, पानी, हवा और भूमिगत स्तर पर एक अदृश्य इलेक्ट्रॉनिक दीवार का काम करने का दावा किया जा रहा है। यह भी कहा गया कि इस प्रणाली से सीमा सुरक्षाबल (बीएसएफ) के जवानों को मुश्किल क्षेत्रों में घुसपैठ रोकने में मदद मिलेगी।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »