व‍िस्फोटक होती जनसंख्या पर राजनीतिक दल व नेता मुंह छुपा रहे हैं: उपराष्ट्रपति

नई दिल्ली। व‍िस्फोटक होती जनसंख्या और इसकी वजह से उत्पन्न हो रही समस्याओं पर उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने चिंता जाहिर करते हुए कहा, ‘बढ़ती आबादी वाले भारत जैसे देश में यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि कोई भी जनसंख्या की समस्या पर ध्यान नहीं दे रहा है। राजनीतिक दल मुंह छुपा रहे हैं, नेता भी मुंह छुपा रहे हैं, संसद में भी इस मुद्दे पर पर्याप्त चर्चा नहीं होती है।’

उन्होंने यह भी कहा कि राजनीतिक दल इस समस्या से मुंह छुपा रहे हैं और इस पर संसद में भी पर्याप्त चर्चा नहीं होती है। हालांकि, इस बीच शिवसेना सांसद ने राज्य सभा में ‘2 बच्चा नीति’ को लेकर एक बिल भी सदन में पेश किया है, जिसपर बजट सत्र के दूसरे हिस्से में चर्चा हो सकती है।

नायडू ने कहा, ‘बढ़ती आबादी वाले भारत जैसे देश में यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि कोई भी जनसंख्या की समस्या पर ध्यान नहीं दे रहा है। राजनीतिक दल मुंह छुपा रहे हैं, नेता भी मुंह छुपा रहे हैं, संसद में भी इस मुद्दे पर पर्याप्त चर्चा नहीं होती है।’ उपराष्ट्रपति ने कहा कि भारत में आबादी बेतहाशा बढ़ रही है और यातायात जैसी समस्याएं उत्पन्न कर रही है।

उपराष्ट्रपति ने भारतीय कृषि शोध संस्थान के 58वें दीक्षांत समारोह में शुक्रवार को नायडू ने कहा, ‘आबादी की समस्या और कृषि उत्पादन बढ़ाना न सिर्फ हमारी खाद्य सुरक्षा बल्कि वैश्विक खाद्य सुरक्षा के लिए आवश्यक है। यदि आबादी इसी तरह से बढ़ती रही और आपने इसी हिसाब से उपज में वृद्धि नहीं की, आने वाले समय में समस्या उत्पन्न होगी।’ उपराष्ट्रपति ने कहा कि भारत जैसा देश खाद्य सुरक्षा के लिए आयात पर निर्भर नहीं रह सकता है।
– एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *