JDU कार्यालय में लगे एक पोस्टर से चढ़ा सियासी पारा

पटना। क्या JDU में सब-कुछ ठीक नहीं चल रहा है? ये सवाल पटना स्थित जेडीयू कार्यालय में लगे एक पोस्टर के बाद उठे। इन पोस्टर में एक तरफ नीतीश कुमार नजर आ रहे हैं वहीं दूसरी तरफ आरसीपी सिंह की तस्वीर है लेकिन जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह और पार्टी संसदीय समिति के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा की तस्वीर गायब थी। इसके बाद मामले ने तूल पकड़ लिया। पार्टी नेतृत्व ने इसे गंभीरता से लेते हुए कहा कि जिसने भी यह पोस्टर लगाया है उसके खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी।
आरसीपी के स्वागत में लगे पोस्टर से ललन सिंह गायब
जेडीयू कार्यालय में लगे पोस्टर से पार्टी अध्यक्ष ललन सिंह और उपेंद्र कुशवाहा की तस्वीर नहीं होने के मामले ने तूल पकड़ लिया। जेडीयू आलाकमान ने इस पोस्टर को लगाने वाले के खिलाफ सख्त कार्यवाही की बात कही है। मामले को लेकर पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा ने कहा कि यह प्रोटोकॉल के खिलाफ है। पार्टी अध्यक्ष की तस्वीर ही पोस्टर से गायब कर दी जाए।
पोस्टर को लेकर सख्त एक्शन की तैयारी में पार्टी
जेडीयू नेतृत्व के रूख को देखते हुए माना जा रहा कि पोस्टर लगाने वाले अभय कुशवाहा के खिलाफ पार्टी बड़ी कार्यवाही कर सकती है। मिल रही जानकारी के अनुसार शाम तक उन्हें पार्टी से निष्कासित किया जा सकता है। पूरा विवाद तब सामने आया जब पटना में जेडीयू कार्यालय के आस-पास केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह के बिहार आगमन को लेकर पोस्टर लगाए गए।
क्या सच में जेडीयू के अंदर गुटबाजी चरम पर?
इन पोस्टर में नीतीश कुमार और आरसीपी सिंह की तस्वीर है। साथ ही पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा, बिहार सरकार के मंत्री विजेंद्र यादव, शिक्षा मंत्री विजय चौधरी, श्रवण कुमार, मदन सैनी, शीला देवी, सुमित सिंह, सुनील सिंह सहित कई नेताओं की तस्वीरें हैं लेकिन इस तस्वीर से पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह और जदयू संसदीय समिति के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा की तस्वीर नदारद है। इसी के बाद मामला गरमाया और अब पोस्टर लगवाने वाले अभय कुशवाहा के खिलाफ पार्टी कार्यवाही की तैयारी में है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *