एसएसपी के नाम सीओ के वायरल पत्र की अब तक जांच ही कर रही पुलिस

कानपुर। कानपुर शूटआउट का मुख्य आरोपी गैंगस्टर विकास दुबे अभी भी पुलिस की पकड़ से बाहर है। 100 घंटे बीत जाने के बाद भी पुलिस अभी उसे गिरफ्तार नहीं कर सकी है। तलाशी अभियान जारी है। टोल नाकों पर दुबे के पोस्टर लगाए जा रहे हैं। हालांकि पुलिस ने एक्शन तेज कर दिया है। शातिर गैंगस्टर की तलाश में पुलिस विकरू गांव में लोगों से घर-घर पूछताछ कर रही है। इसके अलावा विकास के करीबी जय वाजपेयी से भी पुलिस इंटेरोगेशन कर रही है। राजमार्गों पर विकास दुबे का फोटो चस्पा कर उसकी तलाश की जा रही है।
कानपुर के विकरू गांव में हुए इस एनकाउंटर में 8 पुलिसकर्मियों के शहीद होने की घटना ने पूरे देश को हिलाकर रख दिया है। पुलिस महकमे में हमले की वजह से मामले में कार्यवही काफी तेजी से की जा रही है।
विकास के करीबी से पूछताछ
कानपुर के काकादेव थाना इलाके से पुलिस ने विकास के करीबी जय वाजपेयी को हिरासत में ले लिया है। एसटीएफ वाजपेयी से पूछताछ कर रही है। काकादेव थाना इलाके से पुलिस ने तीन लग्जरी गाड़ियां भी बरामद की हैं, जिसे कब्जे में ले लिया गया है। तीनों पर नंबर प्लेट नहीं है और तीनों वाजपेयी की बताई जा रही हैं। बताया गया कि वाजपेयी विकास दुबे का करीबी है और उसकी कई ऐसी तस्वीरें सामने आई हैं, जिसमें वह विकास के साथ है।
बिल्हौर पहुंचीं आईजी रेंज लक्ष्मी सिंह
शहीद सीओ बिल्हौर थाना इलाके के वायरल पत्र मामले की जांच के लिए आईजी रेंज लखनऊ लक्ष्मी सिंह बिल्हौर मंगलवार को थाने पहुंचीं। उन्होंने थाने के कम्‍प्‍यूटर आदि उपकरणों की जांच की। फिलहाल, वह सीओ ऑफिस में हैं और बंद कमरे में पूछताछ कर रही हैं। बता दें कि वायरल पत्र को लेकर पुलिस की चूक सामने आने के बाद एडीजी जोन कानपुर को मामले की जांच सौंपी गई थी। बाद में यह जिम्मेदारी आईजी रेंज लक्ष्मी सिंह को सौंप दी गई।
विकरू में पूछताछ
हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के गांव बिकरू में भी पुलिस जांच कर रही है। घटना के 100 घंटे बाद भी भगोड़े अपराधी की तलाश जारी है। इस संबंध में पुलिस बिकरू गांव के लोगों से पूछताछ कर रही है।
पुलिसकर्मियों ने लगाए विकास दुबे के पोस्टर
हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे की गिरफ्तारी के लिए यमुना एक्सप्रेस-वे के मांट टोल प्लाजा पर उसकी फोटो लगाई है। विकास के बारे में सूचना देने वालों को ढाई लाख रुपये इनाम देने की घोषणा की जा चुकी है। पुलिस ने बताया कि यमुना एक्सप्रेस वे से विकास के भागने की संभावना ज्यादा है इसलिए उसकी फोटो लेकर आने-जाने वाले लोगों से उसके बारे में पूछताछ की जा रही है। मंगलवार को पिलखुआ और आगरा में भी पुलिसकर्मियों ने विकास के पोस्टर लगाकर उसके बारे में सूचना देने की लोगों से अपील की।
तीन गिरफ्तार
मामले में पुलिस ने विकास दुबे की बहू और नौकरानी समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। मंगलवार को पुलिस विभाग ने इसकी जानकारी दी। पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार किए गए लोगों में विकास दुबे की बहू क्षमा दुबे, नौकरानी रेखा और पड़ोसी सुरेश वर्मा को गिरफ्तार किया। पुलिस ने बताया कि तीनों ने पुलिसकर्मियों की मदद की बजाय उनके छिपे होने की जानकारी विकास के गुंडों तक पहुंचाया, जिसके बाद उनकी हत्या कर दी गई।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *