हाथरस जाने पर अड़े राहुल गांधी को पुलिस ने हिरासत में लिया

यमुना एक्‍सप्रेस वे पर राहुल गांधी को हाथरस जाने से रोकती युपी पुलिस
यमुना एक्‍सप्रेस वे पर राहुल गांधी को हाथरस जाने से रोकती युपी पुलिस

नई दिल्‍ली। दिल्ली से काफिले के साथ हाथरस जाने के लिए निकले कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी को यूपी पुलिस ने यमुना एक्सप्रेस-वे पर हिरासत में ले लिया। राहुल ने पुलिस की इस कार्यवाही का जोरदार विरोध किया और पूछा कि आखिर उन्हें किस कानून के तहत हिरासत में लिया जा रहा है। इससे पहले राहुल गांधी की पुलिस के साथ जबर्दस्त झड़प हो गई। राहुल ने कहा कि पुलिस ने उन्हें धक्का देकर जमीन पर गिरा दिया।
पीड़ित परिवार से मिलना चाहता हूं: राहुल गांधी
पुलिस के साथ नोंकझोंक के बाद राहुल आक्रोशित हो गए और उन्होंने मीडिया के सामने पुलिस पर कई सवाल दाग दिए। उन्होंने कहा कि पुलिस वालों से अकेले जाने देने की अपील की, लेकिन पुलिस ने उनका यह आग्रह भी नहीं माना। उन्होंने कहा कि अकेले आदमी पर धारा 144 तो लागू नहीं होती है। राहुल ने कहा कि वो पीड़ित परिवार से मिलना चाहते हैं।
पुलिस ने मुझे धक्का देकर गिरा दिया: राहुल
राहुल ने कहा, ‘देखो… पुलिस ने कैसे मुझे धक्का दिया है। मुझ पर लाठीचार्ज किया और जमीन पर गिरा दिया। मैं पूछना चाहता हूं कि क्या इस देश में सिर्फ मोदी जी ही घूम सकते हैं? क्या आम आदमी कहीं आ-जा नहीं सकता?’ उन्होंने आगे कहा, ‘हमारी गाड़ी रोक दी गई इसलिए हम पैदल चलने लगे।’
कांग्रेस नेता का दावा, राहुल के हाथ में लगी चोट
यूपी कांग्रेस अध्यक्ष अजय सिंह लल्लू ने दावा किया है कि पुलिस के साथ धक्का-मुक्की में राहुल गांधी का हाथ चोटिल हो गया है। उन्होंने कहा, ‘राहुल गांधी के हाथ के साथ पुलिस ने धक्का-मुक्की की है। उनके हाथ में चोट लगी है। वह सड़क पर बैठे हुए हैं। वह चोटिल स्थिति में हैं।’
काफिला रोका तो पैदल चल पड़े राहुल-प्रियंका
दरअसल, राहुल गांधी अपनी बहन और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी को ग्रेटर नोएडा के पास रोक लिया गया। बाद में दोनों अपने दल-बल के साथ पैदल ही हाथरस की तरफ बढ़ गए तो पुलिस ने यमुना एक्सप्रेस-वे पर प्रशासन ने उन्हें फिर रोकने की कोशिश की। राहुल गांधी और पुलिस वालों के बीच अच्छी-खासी खींचतान हो गई जिसके बाद वो वहीं धरने पर बैठ गए। बाद में पुलिस ने राहुल गांधी को गिरफ्तार कर लिया।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *