भारत का हिस्‍सा है PoK, लेने के लिए आदेश का इंतजार: सेना प्रमुख

नई दिल्‍ली। सेना प्रमुख मनोज मुकुंद नरवणे ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि PoK भारत का हिस्सा है। हालांकि, उन्होंने स्पष्ट किया कि इसका फैसला केंद्र सरकार को ही लेना है कि उसे शामिल कब करना है।
पाकिस्तान और चीन की चुनौतियों के सवाल पर आर्मी चीफ ने कहा कि किसी भी परिस्थिति से निपटने के लिए हम तैयार हैं। एलओसी पर पाकिस्तान की साजिश पर आर्मी चीफ ने कहा कि इंटेलिजेंस इनपुट और सेना की तत्परता के जरिए हम पाक की साजिशों को ध्वस्त करने में कामयाब हो रहे हैं।
PoK पर सेना को सरकार के आदेश का इंतजार
PoK को भारत का हिस्सा बताते हुए गृहमंत्री अमित शाह संसद में बयान दे चुके हैं। इससे संबंधित सवाल पर आर्मी चीफ ने कहा, ‘संसदीय प्रतिज्ञा के अनुसार जम्मू-कश्मीर अखंड भारत का हिस्सा है। अगर संसद यह चाहती है कि क्षेत्र (PoK) भी हमारे क्षेत्र में शामिल हो। इससे संबंधित आदेश जब भी आएगा, हम उचित कार्यवाही के लिए तैयार हैं।’
‘कश्मीर पर सेना ने अच्छा काम किया है’
आर्टिकल 370 खत्म किए जाने के सवाल पर सेना प्रमुख ने कहा कि कश्मीर में हालात अच्छे हैं। आर्मी चीफ ने कहा, ‘कश्मीर के हालात पर बहुत अच्छा काम किया है चाहे एलओसी पर हो या घाटी में। लोगों का भी पूरा समर्थन हमें इस दौरान मिला है। हमें स्थानीय प्रशासन और वहां की पुलिस का समर्थन भी रहा। कई बार ड्यूटी के वक्त तुरंत फैसले लेने होते हैं तब कमांडर को कॉल लेनी होती है, उसका सम्मान होना चाहिए।’
एलओसी पर पाकिस्तान की साजिश हो रही नाकामयाब
एलओसी पर पाकिस्तान की ओर से मिल रहे खतरे पर आर्मी चीफ ने कहा कि भारतीय सेना इन चुनौतियों से निपटने में सक्षम हैं।
उन्होंने कहा, ‘एलओसी पर हम सक्रिय हैं। प्रतिदिन हमें इंटेलिजेंस इनपुट मिल रहे हैं और हम गंभीरता से उसे लेते हैं। इन सभी इनपुट और सतर्कता के कारण हम पाकिस्तान की ओर से होने वाले बैट ऐक्शन को ध्वस्त करने में कामयाब हुए हैं।’
आर्मी चीफ बोले, सेना के पुनर्गठन पर काम चल रहा
सेना के मूलभूत संरचना में सुधार पर जोर देते हुए आर्मी चीफ ने कहा, ‘हम पुनर्गठन कर रहे हैं। चार स्टडी हुई और सब अभी अलग-अलग स्टेज में हैं। आर्मी हेडक्वार्टर रिस्ट्रक्चरिंग पर एक स्टडी थी। इसे सरकार को दे दिया है अब औपचारिक मंजूरी का इंतजार है। ये दूसरी स्टडी इंटिग्रेटेड बैटल ग्रुप की है ताकि ज्यादा बैटल रेडी बने आर्मी। हमने इसे कई वॉर गेम में डिस्कस किया।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »