हरियाणा के कुरुक्षेत्र में प्रधानमंत्री बोले: जो भ्रष्ट है, उसे ही मोदी से कष्ट है

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कुरुक्षेत्र की धरती से विपक्षी दलों पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि मुझे देश की जनता ने बड़े विश्वास के साथ चौकीदार बनाया है, जनता के उसी विश्वास के कारण मैं भ्रष्टाचार की सफाई में लगा हूं। उन्होंने कहा कि जो भ्रष्ट है, उसे ही मोदी से कष्ट है। जांच एजेंसियों की कार्यवाही से उनके पसीने छूट रहे हैं।
कुरुक्षेत्र में मंगलवार को स्वच्छता शक्ति सम्मेलन को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महागठबंधन को महामिलावट कहते हुए कहा कि महामिलावट के सारे चेहरों द्वारा जांच एजेंसियों को धमकाने और मोदी को गाली देने का काम किया जा रहा है। मोदी इनकी धमकी और गालीगलौज वाली भाषा से डरने वाला नहीं है।
पीएम बनाने के लिए देशवासियों को आभार जताया
मोदी न रुकने वाला है और न झुकने वाला। भ्रष्टाचार और गंदगी की सफाई का अभियान आपके आशीर्वाद से इसी तेजी से आगे बढ़ेगा। इतिहास का हवाला देकर गांधी परिवार पर निशाना साधते हुए कहा कि कुछ लोगों के लिए वर्ष 1947 से देश का इतिहास शुरू होता है और वह भी बस एक ही परिवार से शुरू होता है।
एक परिवार के लोगों ने इतिहास की जड़ों को काटने का काम किया। इतिहास की जड़ों को काटकर इतिहास नहीं बना सकते। इतिहास की जड़ों से रस लेकर ही सभ्यताएं फलती-फूलती हैं।
स्वच्छता अभियान की सराहना की
देश भर से आईं स्वच्छता गृहियों से प्रधानमंत्री बोले कि जब उन्होंने लाल किले से शौचालय की बात की तो उनका मजाक बनाया गया। कई लोगों ने अभियान को लेकर सीधे मुझ पर अपमानजनक टिप्पणियां की। इसके बावजूद सोने का चम्मच मुंह में लेकर पैदा होने वाले लोगों का तंज न सुनकर मैं स्वच्छता अभियान में जुट गया।
परिणामस्वरूप आजादी के बाद जहां समूचे देश में 40 फीसदी स्वच्छता को साढ़े चार साल में बढ़ाकर 98 प्रतिशत कर दिया। देश भर में 10 करोड़ शौचालय, 5.56 लाख गांवों को खुले से शौचमुक्त बनाया। इससे देश में स्वच्छता के लिए मानस बना और इस अभियान से जुड़कर 45 लाख लोगों को रोजगार मिला।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »