पीएम ने कहा: इन पांच सालों में जेल के दरवाजे तक ले गया, अब अंदर करुंगा

फतेहाबाद। हरियाणा के फतेहाबाद में चुनाव प्रचार करने पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रॉबर्ट वाड्रा का नाम लिए बिना कथित जमीन घोटाले को उठाते हुए कहा कि पांच साल में जेल के दरवाजे तक ले गया हूं, आने वाले पांच साल तक अंदर कर दूंगा।
बता दें कि जमीन घोटाले के मामले में रॉबर्ट वाड्रा के खिलाफ ईडी की जांच चल रही है। इसके अलावा करतारपुर साहिब कॉरिडोर, वन रैंक वन पेंशन और 84 के दंगों पर भी पीएम मोदी ने कांग्रेस पर करारा निशाना साधा।
पीएम ने 84 दंगों को छेड़ते हुए कांग्रेस और गांधी परिवार पर जमकर हमला बोला। हरियाणा की 10 लोकसभा सीटों पर 12 मई और पंजाब की 13 सीटों पर सातवें चरण (19 मई) में वोट डाले जाने हैं। इसी के मद्देनजर पीएम ने सिख दंगों पर कांग्रेस को घेरना शुरू कर दिया है। उन्होंने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस को लोगों की भावनाओं से कोई मतलब नहीं है, जिसका नाम सिख दंगों में आया था उसे मध्य प्रदेश का मुख्यमंत्री बना दिया।
‘जिस पर सवाल उठे उसे सीएम बना दिया’
पीएम मोदी 84 के सिख दंगों को उठाते हुए कहा, ‘1984 में दिल्ली, पंजाब, हरियाणा सहित देश के अलग-अलग हिस्सों में हमारे हजारों सिख भाई-बहनों, छोटे-छोटे बच्चों को कांग्रेस परिवार और उसके दरबारियों के इशारे पर हत्या की गई। बेरहमी से उनको मारा गया। 34 सालों तक दर्जन भर आयोग बने, पर सिखों को इंसाफ नहीं मिला। आपके चौकीदार ने 84 के गुनहगारों को सजा देने का वायदा किया था। मुझे संतोष है कि गुनहगारों को फांसी और उम्रकैद मिलने का सिलसिला शुरू हो चुका है, लेकिन बेशर्म कांग्रेस उन्हें आज भी इनाम दे रही है। सिख दंगों में जिस पर सवाल उठे हों, उसे (कमलनाथ) मध्य प्रदेश का मुख्यमंत्री बनाकर कांग्रेस ने साफ कर दिया कि उसे आपकी भावनाओं की परवाह नहीं है। कांग्रेस का इतिहास ही आपकी भावनाओं को नजरंदाज करने का है।’
‘…तो करतारपुर भारत में होता’
करतारपुर पर पीएम मोदी ने कहा, ‘बंटवारे के समय थोड़ा भी जोर लगाया होता तो करतारपुर साहिब आज भारत में होते। अब हम आगे बढ़े हैं और करतारपुर कॉरिडोर को विकसित किया जा रहा है।’
‘पांच साल में जेल के अंदर भेज दूंगा’
पीएम मोदी ने रॉबर्ट वाड्रा पर निशाना साधते हुए कहा, ‘कांग्रेस ने किसानों की जमीन पर भी भ्रष्टाचार की खेती की है, सबूत देश के सामने है, हरियाणा और दिल्ली में जब भी कांग्रेस की सरकार थी तो कैसे कौड़ियों के दाम पर किसानों की जमीन खरीदने का खेल खेला गया। किसानों को लूटने वाले को ये चौकीदार कोर्ट तक ले गया है। जमानत के लिए चक्कर काट रहे हैं, ईडी के दफ्तर तक जूते घिस रहे हैं। आपके आशीर्वाद से इन्हें पांच साल में जेल के दरवाजे तक ले गया हूं, आने वाले पांच साल तक अंदर कर दूंगा।’
कांग्रेस की वन रैंक वन पेंशन योजना पर सवाल
पीएम मोदी ने कहा, ‘कांग्रेस ने आपसे वादा किया था कि वह वन रैंक वन पेंशन लागू करेगी, ये वादा करते-करते उसने 40 साल निकाल दिए। 2014 चुनाव से पहले अंतरिम बजट में 500 करोड़ रुपया इसके लिए रख दिया। उनके नामदार पूर्व सैनिकों को माला पहनाने लगे। ये कितना बड़ा धोखा था। हम आए हमने वादा किया था कि वन रैंक वन पेंशन लागू होगा और हमने अब तक 35 हजार करोड़ रुपया सेना के परिवारों को पहुंचाया है।’
पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस के कारण देश में रोने की नौबत आ गई है। उन्होंने कहा, ‘7 दशक तक देश में नेशनल वॉर मेमोरियल भी नहीं बना। अपने परिवार के तो आपने हर गली में स्मारक खड़े कर दिए लेकिन देश के मरने वालों के लिए नहीं। जो काम आपने 70 साल में नहीं किया वो हमने 5 साल में किया है।’
’23 मई को पता चल जाएगा कि फिर एक बार…’
फतेहाबाद में पीएम मोदी ने कहा, ‘पांच चरण का चुनाव हो चुका है, स्थिति साफ हो चुकी है। 23 मई की शाम तक पता चल जाएगा कि फिर एक बार ………(मोदी सरकार नारे की गूंज)। उन्होंने आगे कहा, ‘कांग्रेस हो या उसके महामिलावाटी साथी, सभी ने हाथ खड़े कर दिए हैं। दिल्ली में खिचड़ी वाली मजबूर सरकार बनाने के उनके सारे मंसूबे नष्ट हो गए हैं। आपका चौकीदार देश को जिताने के लिए भारत को विश्वशक्ति बनाने के लिए दिन-रात आपकी सेवा में जुटा है।’ पीएम ने कहा, ‘2014 में जो मजबूत सरकार के जरिए दिल्ली में आप सबके आशीर्वाद से मुझे सेवा करने का मौका मिला, उसके कारण ही आज दुनिया में हिंदुस्तान का डंका बज रहा है।’ उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस या दूसरे दलों ने अपनी सभाओं में एक बार भी देश की रक्षानीति पर कोई बात नहीं कही है।
‘अब पाकिस्तान में घुसकर मारते हैं’
पीएम मोदी ने कहा, ‘ये नहीं बताएंगे क्योंकि इनका अतीत ऐसा है कि राष्ट्र रक्षा पर ये कुछ नहीं बोल पाते हैं। 2014 से पहले आए दिन पाकिस्तान हमारे जवानों के साथ बर्बरता करता था लेकिन केंद्र में बैठी सरकार सिर्फ बयान देती थी। आए दिन आतंकी हमले होते थे, लेकिन कांग्रेस की मजबूर सरकार सिर्फ बयान देती थी। लेकिन 2014 में आपने जो मजबूत सरकार दिल्ली में बनाई उसने अपने शूरवीरों की भुजाओं में नई ताकत दे दी। उनके हाथ खोल दिए। हमारे सपूत अब पाकिस्तान के भीतर आतंकियों के अड्डे में घुसकर मारते हैं। पहली सर्जिकल स्ट्राइक में हमने जमीन से हमला किया और दूसरी स्ट्राइक किया तो एयर स्ट्राइक करके हमने दुश्मनों को घुसकर मारा।’
‘जो कांग्रेस नहीं कर पाई हमने किया’
पीएम ने रैली के दौरान कहा, ‘जो आतंकी कभी हमें डराते थे वो आज दुबकर करके बैठे हुए हैं। तमाम आतंकी हमलों का गुनहगार मसूद अजहर अब ग्लोबल टेररिस्ट घोषित हो चुका है। पाकिस्तान अब मजबूर है उसके खिलाफ कार्यवाही करने के लिए लेकिन अपनी 5-6 साल की कोशिश करने के बाद भी कांग्रेस सरकार वह काम नहीं करा पाई जो हमने कर दिखाया।’
‘कांग्रेस की नीयत साफ नहीं’
पीएम मोदी ने कांग्रेस की नीयत पर सवाल उठाते हुए कहा, ‘क्योंकि नीयत नहीं थी, साफ नीति नहीं थी। हरियाणा का शायद ही कोई ऐसा घर होगा जो अपने बच्चों को देश की सेवा के लिए न भेजता हो, यहां की वीर माताएं, वीर संतानों को जन्म देती हैं। यहां की वीर माताओं के लिए पूरे हिंदुस्तान को नाज है। कांग्रेस कह रही है कि अगर दिल्ली में उसकी सरकार बनी, तो जम्मू-कश्मीर समेत जो हिंसा वाले इलाके हैं वहां तैनात सैनिकों को जो विशेषाधिकार मिले हैं, एक सुरक्षा कवक्ष मिला है, उसे आकर छीन लिया जाएगा। यानी जो पत्थरबाज हैं, आतंकवाद के समर्थक हैं, उन्हें खुली छूट देने का कांग्रेस सार्वजनिक रूप से बोल रही है। भारत माता की जय बोलने पर ऐतराज जताने वाली कांग्रेस देशद्रोह का कानून हटाने का वादा करती है।’
‘जवानों का अपमान करती है कांग्रेस’
पीएम मोदी ने कहा, ‘कांग्रेस के लोग ऐसी भाषा बोलते हैं कि आपका गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंच जाएगा। कर्नाटक में कांग्रेस एक सरकार चलाती है, उस सरकार के मुख्यमंत्री ने एक बयान दिया। यह बहुत गंभीर बयान है जिससे 100 साल तक देश कांग्रेस को स्वीकार नहीं करेगा। कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने कहा है कि जिन युवकों को दो वक्त खाने के लिए रोटी नहीं मिलती है, जो भूखे होते हैं वो पेट भरने के लिए सेना में जाते हैं। अरे शर्म आनी चाहिए कांग्रेस के लोगों को, मेरे देश के वीरों का अपमान करता है आपका मुख्यमंत्री। जो दुश्मन से देश की रक्षा करते हैं, मां भारती के लिए जान की बाजी लगा लेते हैं उनके लिए कांग्रेस ये सोचे तो इससे बड़ा अपमान कोई नहीं।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »