प्रवासी भारतीय सम्‍मेलन में पीएम ने कहा, हमने टेक्‍नोलॉजी के जरिए कांग्रेस शासन से चली आ रही लूट खत्‍म की

वाराणसी। अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में प्रवासी भारतीय सम्‍मेलन का उद्घाटन करने पहुंचे पीएम मोदी ने भ्रष्‍टाचार के मुद्दे पर कांग्रेस पर बड़ा हमला बोला। इसके लिए उन्‍होंने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के बयान का सहारा लिया। साथ ही यह भी कहा कि कांग्रेस पार्टी ने भ्रष्‍टाचार को खत्‍म करने के लिए कुछ नहीं किया।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वाराणसी में आयोजित प्रवासी भारतीय सम्‍मेलन के दौरान कहा कि एक पूर्व प्रधानमंत्री ने स्‍वीकार किया था कि एक रुपया जब दिल्‍ली से भेजा जाता है तो केवल 15 पैसे ही जनता तक पहुंचता है। पीएम मोदी ने कहा कि समस्‍या को जानकर भी कांग्रेस सरकारों ने कुछ नहीं किया जबकि उनकी सरकार ने व्‍यवस्‍था में बदलाव लाकर साढ़े 4 लाख करोड़ रुपये बचाए।
उन्‍होंने कहा, ‘आप में से अनेक लोगों ने हमारे देश के एक पूर्व प्रधानमंत्री की भ्रष्टाचार को लेकर कही एक बात जरूर सुनी होगी। उन्होंने कहा था कि केंद्र सरकार दिल्ली से जो पैसा भेजती है, उसका सिर्फ 15 प्रतिशत ही लोगों तक पहुंच पाता है। इतने वर्ष तक देश पर जिस पार्टी ने शासन किया, उसने देश को जो व्यवस्था दी थी, उस सच्चाई को उन्होंने स्वीकारा था।’
‘टेक्‍नोलॉजी का इस्तेमाल करके इस लूट को खत्म कर दिया’
पीएम मोदी ने कहा, ‘अफसोस यह रहा कि बाद के अपने 10-15 साल के शासन में भी इस लूट को, इस लीकेज को बंद करने का प्रयास नहीं किया गया। देश का मध्यम वर्ग ईमानदारी से टैक्स देता रहा और जो पार्टी इतने सालों तक सत्ता में रही, वह इस 85 प्रतिशत की लूट को देखकर भी अनदेखा करती रही। हमने टेक्‍नोलॉजी का इस्तेमाल करके इस 85 प्रतिशत की लूट को 100 प्रतिशत खत्म कर दिया है।’
उन्‍होंने कहा, ‘बीते साढ़े चार वर्षों में 5 लाख 78 हजार करोड़ रुपए यानि करीब-करीब 80 बिलियन डॉलर हमारी सरकार ने अलग-अलग योजनाओं के तहत सीधे लोगों को दिए हैं, उनके बैंक खाते में ट्रांसफर किए हैं। अब आप अंदाजा लगाइए, अगर देश पुराने तौर तरीकों से ही चल रहा होता तो आज भी इस 5 लाख 78 हजार करोड़ रुपए में से 4 लाख 91 हजार करोड़ रुपए लीक हो रहा होता। अगर हम व्यवस्था में बदलाव नहीं लाए होते यह राशि उसी तरह लूट ली जाती, जैसे पहले लूटी जाती थी।’
15वें प्रवासी भारतीय समारोह का किया उद्घाटन
इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में मंगलवार को 15वें प्रवासी भारतीय समारोह का उद्घाटन किया। उन्‍होंने दुनियाभर से आए भारतीय मूल के लोगों का स्‍वागत किया। पीएम मोदी ने कहा, ‘सबसे पहले आप सभी का बहुत-बहुत अभिनंदन, बहुत-बहुत स्वागत है। आप सभी, यहां अपनी, अपने पूर्वजों की मिट्टी की महक से खिंचे चले आए हैं। कल जिन्हें प्रवासी भारतीय सम्मान मिलने वाला है, उन्हें मैं अपनी ओर से अग्रिम शुभकामनाएं देता हूं।’
उन्‍होंने कहा, ‘आज का दिन मेरे लिए भी विशेष है। मैं यहां आपके सामने प्रधानमंत्री के साथ-साथ काशी का सांसद होने के नाते, एक मेज़बान के रूप में भी उपस्थित हुआ हूं। बाबा विश्वनाथ और मां गंगा का आशीर्वाद आप सभी पर बना रहे, मेरी यही कामना है। आप काशी में हैं इसलिए मैं काशी और आप सभी में एक समानता देख रहा हूं। बनारस नगरी चिरकाल से भारत की सांस्कृतिक, आध्यात्मिक और ज्ञान की परंपरा से दुनिया में देश का परिचय कराती रही है। आप अपने दिलों में भारत और भारतीयता को संजोए हुए, इस धरती की ऊर्जा से दुनिया को परिचित करा रहे हैं।’
टुमकूर मठ के स्‍वामी श्री श्री श्री शिवकुमार के निधन पर दुख जताया
प्रधानमंत्री ने टुमकूर मठ के स्‍वामी श्री श्री श्री शिवकुमार के निधन पर दुख जताया। उन्‍होंने कहा, ‘आज आपसे अपनी बात शुरू करने से पहले, मैं डॉक्टर श्री श्री श्री शिवकुमार स्वामी जी के निधन पर अपना शोक व्यक्त करना चाहता हूं। टुमकूर के श्री सिद्धगंगा मठ में, मुझे कई बार उनसे आशीर्वाद लेने का अवसर मिला था। जब भी उनसे मिलता था, वह बेटे की तरह अपना स्नेह मुझ पर दिखाते थे। ऐसे महान संत, महाऋषि का जाना, हम सभी के लिए बहुत दु:खद है। मानव कल्याण के लिए उनके योगदान को देश हमेशा याद रखेगा।’
पीएम मोदी ने कहा कि दुनियाभर में बसे आप सभी भारतीयों से संवाद का यह अभियान हम सभी के प्रिय श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयी जी ने शुरू किया था। अटल के जाने के बाद यह पहला प्रवासी भारतीय सम्मेलन है। उन्‍होंने कहा कि पहले लोग कहते थे कि भारत बदल नहीं सकता है, लेकिन यह बदलाव करके दिखाया है। दुनिया आज हमारी बात को पूरी गंभीरता के साथ सुन रही है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *