पीएम नरेन्‍द्र मोदी ने बताया, टीएमसी के 40 विधायक बीजेपी के संपर्क में हैं

सेरमपुर। पीएम नरेंद्र मोदी ने सोमवार को पश्चिम बंगाल में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर तीखा हमला बोला। पीएम ने सेरमपुर में रैली के दौरान कहा कि चुनाव के बाद टीएमसी के कई विधायक पार्टी छोड़ने वाले हैं। उन्होंने दावा किया टीएमसी के 40 विधायक बीजेपी के संपर्क में हैं। पीएम मोदी का यह बयान बंगाल की राजनीति में काफी उथल-पुथल पैदा कर सकता है।
पीएम ने ममता बनर्जी के उस बयान पर भी प्रतिक्रिया दी, जिसमें सीएम ने मोदी को कंकड़ वाला रसगुल्ला खिलाने की बात कही थी।
मोदी ने कहा कि जिस देश की मिट्टी में बड़े-बड़े महापुरुषों ने जन्म लिया, वहां का कंकड़ वाला रसगुल्ला भी मेरे लिए प्रसाद की तरह होगा।
‘बीजेपी के संपर्क में TMC विधायक’
मोदी ने कहा, ‘पश्चिम बंगाल के लोगों के साथ विश्वासघात करने वाली दीदी, बस इतना समझ लो कि इस देश की जनता गलती माफ कर सकती है लेकिन विश्वासघात को माफ नहीं कर सकती। दीदी, आपकी जमीन खिसक चुकी है। और दीदी देख लेना कि जब 23 तारीख को नतीजे आएंगे और जब चारों तरफ कमल खिलेगा तो तुम्हारे विधायक भी आपको छोड़कर भाग जाएंगे दीदी। आज भी आपके 40 विधायक हमारे संपर्क में हैं। दीदी आपका बचना मुश्किल है क्योंकि आपने विश्वासघात किया है।’
दीदी के रसगुल्ले का इंतजार
मोदी ने कहा कि दीदी ने माटी और मानुष की बातें कही थीं न… लेकिन दीदी ने माटी को छोड़ दिया है। दीदी ने घोषणा की है कि वह बंगाल की मिट्टी और पत्थरों से बना रसगुल्ला खिलाना चाहती हैं। वाह! क्या सौभाग्य है! जिस मिट्टी पर रामकृष्ण परमहंस पैदा हुए, जिस मिट्टी पर स्वामी विवेकानंद पैदा हुए, चैतन्य महाप्रभु पैदा हुए, जगदीशचंद्र बसु हुए, नेताजी सुभाष बाबू हुए, श्यामाप्रसाद मुखर्जी पैदा हुए। मोदी ने कहा, ‘ऐसे अनगिनत महापुरुष जिनके चरणों की धूल बंगाल की माटी रही है, उसका रसगुल्ला मोदी के लिए मिलेगा, यह तो मोदी के लिए प्रसाद होगा। दीदी मेरा भाग्य खुल जाएगा क्योंकि मेरे लिए मिट्टी प्रेरणा है, ऊर्जा है दीदी। मैं इंतजार करूंगा, बंगाल के मिट्टी के रसगुल्ले के लिए।….दीदी आपने यह भी कहा है कि रसगुल्ले में यहां के पत्थर भी होंगे तो मैं इसका भी आभारी हूं। पत्थर भेजेंगी तो यहां के नागरिकों के माथे फूटने से बचेंगे क्योंकि इन्हीं पत्थरों से टीएमसी के गुंडे यहां के नागरिकों का माथा फोड़ते हैं।’
मोदी और EVM को दे रहे गाली
पीएम मोदी ने कहा, ‘पूरा देश इस बार कह रहा है कि पश्चिम बंगाल नए भारत के निर्माण के लिए इस बार ऐतिहासिक जनादेश दे रहा है। आपके इस प्यार, आशीर्वाद के लिए मैं आपका बहुत-बहुत आभार व्यक्त करता हूं।’ उन्होंने कहा कि हर चरण के साथ महामिलावट करने वालों का दिल बैठ जाता है, धड़कने लग जाता है। वे घबराए हुए भी हैं और बौखलाए हुए भी हैं इसलिए पहले जो सिर्फ मोदी को गाली देते थे अब धीरे-धीरे ईवीएम को गाली देना शुरू कर दिया है। इस चुनाव में या तो मोदी को गाली दो या ईवीएम को गाली दो। यही इनके चुनाव प्रचार का तरीका है।
मोदी ने कहा, ‘आज सुबह से पश्चिम बंगाल से जिस तरह की खबरें आ रही हैं, वो बता रही हैं कि दीदी का गुस्सा इस समय सातवें आसमान पर है। मैंने सुना है कि मोदी को गाली देते-देते, बीजेपी को गाली देते-देते उनका गुस्सा इतना बढ़ गया है कि उनका अपना कार्यकर्ता भी उनके सामने जाने से डर रहा है, भाग रहा है। उनको लगता है कि दीदी कहीं मोदी का गुस्सा अपने ही कार्यकर्ता पर न उतार दें, झापड़ न मार दें।’
प्रधानमंत्री ने कहा, ‘मैं कहूंगा, ममता दीदी, लोकतंत्र ने ही आपको यह पद दिया है। आप लोकतंत्र को स्वीकार कीजिए। आपने पश्चिम बंगाल की जनता को धोखा दिया, लेकिन अब लोकतंत्र को धोखा मत दीजिए। दीदी, आप और आपके कार्यकर्ता और आपके गुंडों की टोली…चाहे जितना दम लगा ले, चाहे जितना हिंसा कर ले, लेकिन पश्चिम बंगाल की जनता ने ठान लिया है। 23 मई को चुनाव के नतीजे आने वाले हैं तो फिर एक बार (भीड़ ‘मोदी सरकार’ बोलकर नारा पूरा करती है।) होना है। उन्होंने कहा कि विपक्ष का एक मात्र अजेंडा है- मोदी को हटाना। एनडीए का कहना है, हम बार-बार कह रहे हैं, साफ-साफ कहना है। भ्रष्टाचार मिटाना है और ये महामिलावटी कह रहे हैं कि मोदी को हटाओ।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »