संबलपुर में पीएम मोदी ने बताया, क्‍यों कुछ लोग मुझे हटाना चाहते हैं?

संबलपुर (उड़ीसा)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज ओडिशा के संबलपुर में एक जनसभा को संबोधित किया। उन्होंने पूर्व की सरकारों पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए कहा कि मैंने इनके भ्रष्टाचार पर हमला किया है, इसलिए अब ये लोग मुझे रास्ते से हटा देना चाहते हैं।
देश के अलग-अलग हिस्सों में चुनावी अभियान पर निकले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 23 मई को केंद्र में फिर से सरकार बनने पर दो नए मंत्रालयों के गठन का वादा किया है।
पीएम ने कहा कि पानी से जुड़ी समस्याओं को दूर करने के लिए अलग से एक जलशक्ति मंत्रालय और मछलीपालन से जुड़े लोगों के कल्याण के लिए मत्स्य मंत्रालय बनाएंगे। विपक्षी पार्टियों पर हमला बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा कि महामिलावट वाले समझ ही नहीं पा रहे हैं कि देश मुझे इतना क्यों प्यार कर रहा है।
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘पहले चरण के बाद ओडिशा से जो रुझान आए हैं, वह बताते हैं कि इस बार केंद्र में और ओडिशा में बीजेपी सरकार आ रही है।’ उन्होंने कहा, ‘हमारे देश में कभी भी साधनों और संसाधनों की कमी नहीं रही है लेकिन कभी इनका सही इस्तेमाल नहीं हुआ। पहले की सरकारों ने कभी ध्यान नहीं दिया कि दिल्ली से जो पैसे भेजे जा रहे हैं उसका लाभ आप तक पहुंच रहा है या नहीं। 100 पैसों में से सिर्फ 15 पैसे अगर आप तक पहुंच रहे थे तो क्या विकास हो पाता?’
पीएम मोदी ने किया दो नए मंत्रालयों का वादा
पीएम मोदी ने रैली में एक महत्वपूर्ण वादा करते हुए कहा, ’23 मई को जब दिल्ली में हमारी सरकार बनेगी तो पानी से जुड़ी समस्याओं को दूर करने के लिए अलग से एक जलशक्ति मंत्रालय बनाएंगे जिससे ओडिशा और देश के तटीय इलाके में रहने वाले लोगों के कल्याण के लिए पहल की जा सके। इसके अलावा मछलीपालन से जुड़े लोगों के कल्याण के लिए मत्स्य मंत्रालय भी बनाएंगे।’
‘अब मुझे रास्ते से हटा देना चाहते हैं’
उन्होंने कहा कि इससे पहले की सरकार आपको मिलने वाली चीनी, राशन, यूरिया, खनिजों और कोयले तक में घोटाला कर जाती थी। पीएम मोदी ने कहा, ‘मैंने जब इनके भ्रष्टाचार पर हमला किया, तो अब ये मुझे रास्ते से हटा देना चाहते हैं। आजादी के इतने साल बाद भी इतना संपन्न ओडिशा धीरे-धीरे गरीब बनता चला गया।’ उन्होंने कहा, ’23 मई को जब मोदी सरकार फिर से सत्ता में आएगी तो ओडिशा के हर किसान के खाते में नियमित रकम की व्यवस्था करेंगे।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »