नासिक में राम मंदिर और कश्‍मीर पर बोले पीएम मोदी, बयान बहादुरों को सिखाया सबक

नासिक। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नासिक में महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव प्रचार का बिगुल फूंकते हुए राम मंदिर को लेकर दावा करने वालों पर हमला बोला। अयोध्या सुनवाई पर गुरुवार को उन्होंने कहा कि देश को सुप्रीम कोर्ट पर भरोसा है, मैं बयान बहादुरों से निवेदन करता हूं कि भगवान राम के लिए सुनवाई में अड़ंगा न डालें।
यहां एक जनसभा को संबोधित करते हुए पीएम ने सिर्फ मुंबई का विकास करने को लेकर पुरानी सरकारों की आलोचना भी की। इस दौरान उन्होंने जम्मू-कश्मीर पर नारा दिया, ‘हमें नया कश्मीर बनाना है।’
राम मंदिर पर अनाप-शनाप न बोलें: मोदी
रैली को संबोधित करते हुए पीएम ने कहा, ‘कुछ बड़बोले लोग अयोध्या में राम मंदिर को लेकर अनाप-शनाप बयान देना शुरू कर देते हैं, देश के सभी लोगों के मन में सुप्रीम कोर्ट का सम्मान होना जरूरी है। मामला सुप्रीम कोर्ट में चल रहा है। कोर्ट में सभी लोग अपनी बात रख रहे हैं। ऐसे में ये बयान बहादुर कहां से आ गए? मैं ऐसे बयान बहादुर लोगों को हाथ जोड़कर निवेदन करता हूं कि भगवान के लिए, भगवान राम के लिए भारत की न्याय प्रणाली में विश्वास रखें और आंख बंद करके कुछ भी अनाप-शनाप न बोलें।’
PM ने कश्मीर पर दिया नया नारा
उधर, पीएम ने कहा कि सरकार ने वादा किया था कि जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के समाधान के लिए नई कोशिश करेंगे। देश उन सपनों को साकार करने की दिशा में चल पड़ा है। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर में भारत के संविधान को समग्रता से लागू करना सिर्फ एक सरकार का फैसला नहीं है। 130 करोड़ भारतीयों की भावनाओं का प्रकटीकरण है। यह फैसला जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के लोगों को हिंसा-अलगाववाद, आतंकवाद के कुचक्र से निकालने के लिए भारत की एकता अखंडता के लिए है। पीएम ने कहा, ‘कल तक हम कहते थे- कश्मीर हमारा है, अब हर हिंदुस्तानी कहेगा, हमें नया कश्मीर बनाना है, हर कश्मीरी को गले लगाना है और हमें वहां फिर से स्वर्ग बनाना है।’
शरद पवार पर भी निशाना
पीएम ने कहा, ’40 साल तक 42,000 लोगों को जिस धरती पर मौत के घाट उतार दिया गया, जो धरती रक्त से रंग दी गई, 130 करोड़ देशवासियों का संकल्प है कि फिर एक बार उस कश्मीर को स्वर्ग बनाकर रहेंगे।’ उन्होंने विपक्ष की आलोचना करते हुए कहा, ‘यह दुर्भाग्य है कि शरद पवार जैसे वरिष्ठ नेता गलत बयान दे रहे हैं। उन्हें पड़ोसी देश अच्छा लगता है। वहां के शासक-प्रशासक उनको कल्याणकारी लगते हैं लेकिन पूरा महाराष्ट्र, पूरा भारत जानता है और पूरी दुनिया जानती है कि आतंक की फैक्ट्री कहां पर है।’
राजनीतिक अस्थिरता का शिकार महाराष्ट्र
इससे पहले अपने भाषण की शुरुआत में रैली को संबोधित करते हुए पीएम ने कहा कि महाराष्ट्र जिस तेजी से आगे बढ़ सकता था और जिस सामर्थ्य के साथ देश को आगे लेकर जा सकता था, अकेले मुंबई की चकाचौंध में दूर-दराज क्षेत्र, गांव, गरीब किसान राजनीतिक अस्थिरता के शिकार हो गए। सीएम देवेंद्र फडणवीस की तारीफ करते हुए पीएम ने कहा कि उन्होंने एक स्थिर और विकासशील सरकार राज्य को दी है। उन्होंने लोगों से दोबारा देवेंद्र फडणवीस को लाने की अपील की।
60 साल में पहली बार ज्यादा ताकत के साथ दोबारा आई सरकार
उन्होंने कहा कि पॉलिटिकल पंडित गठबंधन के समीकरणों में उलझे रहते हैं। जनता के प्रति समर्पण भाव की एक ताकत होती है जिसका फायदा महाराष्ट्र में देवेंद्र फडणवीस को और गुजरात में उनको मिला। लोकसभा चुनाव में मिली जीत की ओर इशारा करते हुए पीएम ने कहा कि 60 साल के बाद पहली बार एक सरकार दोबारा चुनकर आई और पहले से ज्यादा ताकत लेकर आई।
पांच साल में फडणवीस सरकार ने ये दिया
PM ने कहा कि बीते पांच साल में राज्य को स्थिरता, विकास, कानून व्यवस्था का विश्वास मिला। महाराष्ट्र को सामाजिक सद्भाव मिला, सहकार मिला और सरोकार का भाव मिला। राज्य को आधुनिक इन्फ्रास्ट्रक्चर, सांस्कृतिक भव्यता को मान-सम्मान मिला। राज्य में निवेश का बेहतरीन माहौल मिला, किसान को बेहतर सुविधाएं और सहयोग मिला, महिलाओं को मुद्रा ऋण और स्वयंसहायता समूहों से स्वरोजगार के अवसर, धुएं से मुक्ति, पानी के लिए संघर्ष कम, जनजाति समाज की बंजारा समाज की आवाज को बुलंदी मिली।
100 दिन पर पीएम- प्रॉमिस, परफॉर्मेंस और डिलीवरी
इस मौके पर पीएम ने कहा कि सरकार की दूसरी पारी के 100 दिन पूरे हो गए हैं और इस पहले शतक में ‘प्रॉमिस है, परफॉर्मेंस है और डिलिवरी’ है। उन्होंने बताया कि सरकार ने पीएम किसान सम्मान निधि योजना के तहत मदद देने का वादा किया था और 20,000 करोड़ रुपये किसानों को दिए जा चुके हैं जिससे सबसे ज्यादा महाराष्ट्र के किसानों को फायदा हुआ है। पीएम ने दावा किया कि छोटे व्यापारियों और दुकानदारों को निश्चित पेंशन से जोड़ दिया गया है। जल्द ही घर-घर पानी पहुंचाया जाएगा।
पूरे किए वादे
पीएम ने कहा, ‘हमने वादा किया था कि देश के पशुधन को किसानों के विकास की रीढ़ बनाएंगे। 50 करोड़ पशुधन को बीमारी से बचाने के लिए टीकाकरण का अभियान चलाया।’ उन्होंने कटाक्ष किया कि पॉलिटिकल पंडित कहते रहते हैं कि चुनाव आया है इसलिए करते हैं। उन्होंने कहा, ‘पशुधन वोट देने नहीं आता, हम देश के लिए काम करते हैं।’
आदिवासी युवाओं को शिक्षित करने के लिए और कौशल निर्माण के लिए 462 एकलव्य मॉडल स्कूलों की डिलिवरी का काम शुरू हो गया है। उन्होंने कहा कि हाल में दो शक्तिशाली हेलिकॉप्टर सैन्य शक्ति का हिस्सा बन गए हैं और जल्द ही राफेल भी सेना को सशक्त करेगा। पीएम ने बताया कि तीनों सेनाओं के बीच तालमेल के लिए चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ का ऐलान 15 अगस्त को किया था।
पीएम ने कहा कि सेना ने 10 साल पहले 2009 में 1,86,000 बुलेट प्रूफ जैकेट मांगे थे लेकिन एनसीपी के समर्थन से चल रही कांग्रेस सरकार ने जैकेट नहीं खरीदे। बीजेपी-एनडीए की सरकार ने प्रक्रिया शुरू की। यह भी ध्यान दिया गया कि ये जैकेट भारत में बने। भारत अब दुनिया के कुछ देशों में शामिल हो गया है जो अंतरराष्ट्रीय स्टैंडर्ड के बुलेट प्रूफ जैकट बनाता है और 100 से ज्यादा देशों में ये जैकेट एक्सपोर्ट हो रही है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *