पीएम मोदी ने कहा, हम जनपथ से नहीं बल्कि जनमत से सरकार चलाते हैं

कटक। अपनी सरकार के 4 साल के कार्यकाल के पूरा होने के मौके पर पीएम नरेंद्र मोदी ने ओडिशा के कटक से रिपोर्ट कार्ड पेश किया। पीएम मोदी ने एक तरह अपनी सरकार की उपलब्धियों का भरपूर बखान किया तो दूसरी ओर कांग्रेस पर भी जमकर हमला बोला। मनमोहन सरकार में सोनिया गांधी के दखल पर इशारों में तंज कसते हुए पीएम मोदी ने कहा कि हम जनपथ से नहीं बल्कि जनमत से सरकार चलाते हैं। कालेधन और करप्शन के खिलाफ अपनी सरकार की मुहिम को लेकर उन्होंने कहा कि हमने JAM यानी जनधन, आधार और मोबाइल के जरिए 80,000 करोड़ रुपये गलत हाथों में जाने से बचाए हैं।
मोदी बोले, हमारी सरकार कनफ्यूजन वाली नहीं, कमिटमेंट वाली है’
यूपीए सरकार से तुलना करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि यह सरकार कनफ्यूजन वाली नहीं, बल्कि कमिटमेंट वाली सरकार है। मोदी ने कहा, ‘कमिटमेंट वाली सरकार चलती है, तब देश का राजकोषीय घाटा कम करने का प्रयास सफल होता है। कालेधन और करप्शन के खिलाफ हमारी सरकार जिस तरह लड़ाई लड़ रही है, उसने कैसे कट्टर दुश्मनों को भी दोस्त बना दिया है। यह जनता देख रही है।’ पीएम मोदी ने कहा, ‘45,000 करोड़ से ज्यादा अघोषित आय का पता चला है। बेनामी संपत्ति लागू होने के बाद 3,500 करोड़ रुपये से ज्यादा की संपत्ति को जब्त किया जा चुका है। पहले यह कल्पना थी कि बड़े लोगों को तो कुछ होता ही नहीं लेकिन आज 4 पूर्व मुख्यमंत्री जेल के अंदर हैं।’
‘गरीबों का पसीना हमारे लिए गंगाजल जैसा पवित्र है’
पीएम मोदी ने कहा, ‘4 सालों ने देश के लोगों में यह भरोसा पैदा किया है कि स्थितियां बदल सकती हैं, हिंदुस्तान बदल सकता है। देश निराशा से आशा, सुशासन से कुशासन, कालेधन से जनधन की ओर तेज गति से बढ़ रहा है। कामाख्या, कन्याकुमारी, बलिया, बीदर, बाड़मेर तक यह सरकार सबका साथ सबका विकास के लए काम कर रही है। यह वह एनडीए सरकार है, जिसके लिए गरीबों का पसीना गंगा, यमुना, नर्मदा के जल की तरह पवित्र है।’
‘इस सरकार में राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और पीएम तीनों गरीब हैं’
पीएम ने अपनी सामान्य पृष्ठभूमि का जिक्र करते हुए कहा, ‘हम गरीबी झेल कर आए हैं इसलिए हमारे लिए उनका कल्याण ही हमारे लिए प्रतिबद्धता है। यह ऐसी सरकार है, जिसमें राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और प्रधानमंत्री का जीवन एक-एक पैसे की चिंता करते हुए बीता है। चांदी के चम्मच की कहावत को तो छोड़िए हमने तो बचपन ऐसे गुजारा है, जहां चम्मच तक नहीं देखा है।’
‘4 साल में बीजेपी 5 राज्यों से 20 राज्यों में पहुंची’
उन्होंने कहा कि हमने जनता का विश्वास और जनता का मत दोनों जीता है। बीते 4 वर्षों में 5 राज्यों से बढ़कर 20 राज्यों में हमारी सरकार बनी है। देश भर में बीजेपी के आज 1,500 से ज्यादा विधायक हैं। स्थानीय निकायों में हमारे हजारों जनप्रतिनिधि जनसेवा में जुटे हुए हैं। मोदी ने कहा कि बीते 4 सालों में बीजेपी सही मायनों में पंचायत से लेकर संसद तक की पार्टी बन चुकी है। हमें जनता का जो आशीर्वाद मिल रहा है, वह हमारे दल या किसी नेता की जीत नहीं है। यह जनता के विश्वास की जीत है। यह उन माताओं का आशीर्वाद है, जिन्हें उज्ज्वला योजना ने धुएं से मुक्ति दिलाई। यह उनकी बेटियों को मुस्कान है, जिनकी सुरक्षा और शिक्षा को बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजना ने मजबूती दी है। यह उन अन्नदाताओं का आशीर्वाद है, जिनके हितों की सुरक्षा की गई है।
‘न कड़े फैसले लेने से डरते हैं और न बड़े फैसले लेने से चूकते हैं’
पीएम मोदी ने अपना रिपोर्ट कार्ड पेश करते हुए कहा कि जनता की आकांक्षाएं तभी स्पष्ट हो गई थीं, जब जनता ने 30 साल बाद पूर्ण बहुमत की सरकार बनाई थी। न हम कड़े फैसले लेने से डरते हैं और न ही हम बड़े फैसले लेने से चूकते हैं। देश में जब कन्फयूजन नहीं कमिटमेंट वाली सरकार चलती है, तब ही सर्जिकल स्ट्राइक किया जाता है। तभी वन रैंक वन पेंशन को मंजूरी मिलती है। तभी दशकों से अटका बेनामी संपत्ति कानून लागू होता है। दुश्मन की संपत्ति जब्त करने वाला कानून हम लागू करने में सफल होते हैं।
देश के आधे लोगों तक नहीं थी बिजली, गैस और सड़क
पीएम मोदी ने पिछली सरकारों के कामकाज से तुलना करते हुए कहा कि देश के आधे लोगों पर गैस कनेक्शन, बिजली नहीं थी। आधे से ज्यादा गांवों में सड़कें और शौचालय नहीं थे। यह बचा हुआ समाज दलित, शोषित, वंचित, पिछड़े और आदिवासी ही थे। कुछ राजनीतिक दलों ने वोट के पॉकेट बनाए थे और उसके लिए ही काम करते थे। राजनीतिक दल योजनाओं का ऐलान कर भूल जाते थे। जो क्षेत्र वोट बैंक का हिस्सा नहीं बने, वह पिछड़ गए। 4 साल में 10 करोड़ से ज्यादा लोगों को हमारी सरकार ने गैस कनेक्शन दिए हैं। उससे पहले 60 सालों में सिर्फ 13 करोड़ लोगों के पास कनेक्शन थे। इसमें उज्ज्वला योजना की बड़ी भूमिका रही है। आखिर कांग्रेस को क्यों यह नहीं दिखा कि गरीबों का भी जीवन है और उन्हें जीवन बीमा और सुरक्षा बीमा की जरूरत है।
‘अगले साल तक देश का हर गांव सड़क से जुड़ेगा’
मोदी ने कहा कि 2014 तक देश में करीब 50 फीसदी गांवों तक ही सड़क थी। इस साल मार्च तक यह काम 85 फीसदी तक हो चुका है। अगले साल तक सभी इलाकों में गांवों तक सड़क की कनेक्टिविटी हो जाएगी। 2014 में 40 फीसदी आबादी स्वच्छता के दायरे में थी और 4 साल बाद में यह 80 फीसदी तक पहुंच चुका है। देश जब 150वीं जयंती मनाएगा को हम संपूर्ण स्वच्छता के साथ उन्हें श्रद्धांजलि देंगे।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »