राष्ट्रीय युवा दिवस पर पीएम मोदी ने कहा, स्‍वामी विवेकानंद के विचारों में दुनिया को बदलने की ताकत

नई दिल्‍ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को राष्ट्रीय युवा दिवस पर वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से दूसरे राष्ट्रीय युवा संसद महोत्सव के समापन समारोह को संबोधित किया। पीएम मोदी ने कहा कि स्वामी विवेकानंद ने एक और अनमोल उपहार दिया है। ये उपहार है, व्यक्तियों के निर्माण का, संस्थाओं के निर्माण का। इसकी चर्चा बहुत कम ही हो पाती है कि स्वामीजी आज भी हमारे बीच हैं, प्रेरणा देते हैं।
नरेंद्र मोदी ने कहा कि विवेकानंद के विचारों में दुनिया को बदलने की ताकत है। उनके विचार हमें प्रेरणा देते हैं। स्वामीजी शारीरिक और मानसिक दोनों ताकतों पर बल देते थे। उन्होंने आजादी के आंदोलन को भी नई दिशा दी।
उन्होंने कहा कि लोग स्वामी जी के प्रभाव में आते हैं, संस्थानों का निर्माण करते हैं, फिर उन संस्थानों से ऐसे लोग निकलते हैं जो स्वामी जी के दिखाए मार्ग पर चलते हुए नए लोगों को जोड़ते चलते हैं।
स्वामी जी कहते थे, पुराने धर्मों के मुताबिक नास्तिक वो है जो ईश्वर में भरोसा नहीं करता लेकिन नया धर्म कहता है कि नास्तिक वो है जो खुद में भरोसा नहीं करता।
उन्होंने कहा कि हमारा युवा खुलकर अपनी प्रतिभा और अपने सपनों के अनुसार खुद को विकसित कर सके इसके लिए आज एक वातावरण और इकोसिस्टम तैयार किया जा रहा है। शिक्षा व्यवस्था हो, सामाजिक व्यवस्था हो या कानूनी बारीकियां, हर चीज में इन बातों को केंद्र में रखा जा रहा है।
मोदी ने कहा, पहले देश में ये धारणा बन गई थी कि अगर कोई युवक राजनीति की तरफ रुख करता था तो घर वाले कहते थे कि बच्चा बिगड़ रहा है क्योंकि राजनीति का मतलब ही बन गया था- झगड़ा, फसाद, लूट-खसोट, भ्रष्टाचार। लोग कहते थे कि सब कुछ बदल सकता है लेकिन सियासत नहीं बदल सकती।
राजनीतिक वंशवाद लोकतंत्र का सबसे बड़ा दुश्मन
इस अवसर पर पीएम मोदी ने ये भी कहा कि राजनीतिक वंशवाद लोकतंत्र का सबसे बड़ा दुश्मन है लिहाजा इसे जड़ से उखाड़ फेंकने की जरूरत है।
प्रधानमंत्री ने कहा कि वंशवाद की वजह से राजनीति में आगे बढ़े लोगों को लगता है कि उनके पहली की पीढ़ियों के भ्रष्टाचार का हिसाब नहीं हुआ तो उनका भी कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता। उन्होंने कहा कि देश की राजनीति में अभी भी ऐसे लोग हैं जिनका आचार, विचार और लक्ष्य सब कुछ अपने परिवार की राजनीति और राजनीति में अपने परिवार को बचाने का ही है।
उन्होंने दावा किया कि अब केवल सरनेम के सहारे चुनाव जीतने वालों के दिन लदने लगे हैं। इस अवसर पर लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला, केंद्रीय खेल मंत्री किरण रिजिजू और केंद्रीय शिक्षा मंत्री डा. रमेश पोखरियाल निशंक भी मौजूद रहें।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *