पीएम मोदी ने UAE में कहा, 370 पर फैसला लोकतांत्रिक तरीके से लिया गया

दुबई। पीएम नरेंद्र मोदी ने UAE दौरे के दौरान भारत के खाड़ी देशों के साथ संबंधों पर कहा कि इस दिशा में लगातार प्रगति हो रही है। पीएम मोदी ने खलीज टाइम्स को दिए इंटरव्यू में आर्टिकल 370 पर भी बात की। उन्होंने कहा कि सभी संवैधानिक और कानूनी प्रक्रियाओं का पालन करते हुए लोकतांत्रिक तरीके से फैसला लिया गया। पीएम मोदी ने अपनी सरकार की प्रमुख योजना जल संरक्षण पर भी चर्चा की।
पीएम ने बेयर ग्रिल्स के संयत रहने के बयान पर कहा कि नियमित योगाभ्यास से उन्हें संयत रहने में मदद मिली।
आर्टिकल 370 पर बोले पीएम, UAE हमेशा आतंक के खिलाफ हमारे साथ
आर्टिकल 370 हटाने पर पीएम मोदी ने कहा कि भारत के संविधान के तहत ही यह फैसला लिया गया। आर्टिकल 370 के कारण भारत के खाड़ी देशों के साथ संबंध प्रभावित होने की आशंका को पीएम ने पूरी तरह से खारिज कर दिया। उन्होंने कहा, ‘पिछले 4 दशक से भारत सीमापार से होने वाले आतंक से प्रभावित है। UAE की ओर से हमें हमेशा आतंकवाद के खिलाफ कार्यवाही में पूरा सहयोग मिला है। जहां तक आर्टिकल 370 का सवाल है तो आतंरिक तौर पर उठाए हमारे कदम में संवैधानिक मूल्य, कानून और लोकतांत्रिक प्रक्रिया का पूरी तरह से पालन किया गया है। हम जम्मू-कश्मीर को विकास की प्रक्रिया से बाहर रखकर अकेले नहीं छोड़ सकते थे। UAE की सरकार और प्रशासन ने जिस तरह से हमारे कदम का समर्थन किया है, मैं उसकी सराहना करता हूं।’
बेयर ग्रिल्स की टिप्पणी पर PM ने कहा, ‘घबराना समस्या का हल नहीं’
प्रधानमंत्री मोदी ने बेयर ग्रिल्स के लोकप्रिय मैन वर्सेज वाइल्ड शो पर भी चर्चा की। पीएम मोदी के बारे में शो के होस्ट ने कहा था कि मुश्किल परिस्थिति में भी पीएम पूरी तरह से संयत नजर आ रहे थे। पीएम मोदी ने इस पर कहा, ‘संयमित रहने का जहां तक सवाल है तो मैं नियमित योग करता हूं। योग ने मुझे अदंर से काफी शक्ति दी है। नेतृत्व के दौरान भी कई बार हमें मुश्किल स्थितियों का सामना करना पड़ता है। मैं आपको कह सकता हूं कि घबराने से कभी चीजें ठीक नहीं होती। मुझे व्यक्तिगत तौर पर भी कभी इसका लाभ होते नहीं दिखा। किसी भी समस्या का स्थायी और प्रभावी समाधान मन के शांत रहने की स्थिति में ही मिल सकता है।’
भारत को बताया नए सपनों की उड़ान वाला देश
भारत के सबसे लोकप्रिय प्रधानमंत्रियों में शामिल किए जाने पर पीएम मोदी ने कहा कि जनता की सेवा का मौका मिलना उनके लिए सौभाग्य है। उन्होंने कहा, ‘मेरे लिए यह सौभाग्य है कि मुझे देश की सेवा करने का मौका मिला। पिछले 5 वर्षों में देश का माहौल बदला है और लोगों की उम्मीद भी हमसे बढ़ी है। आने वाले 5 वर्षों में हमारी कोशिश है कि वैश्विक स्तर पर भी विश्व की जो उम्मीदें हमसे हैं हम उसको पूरा करें। भारत इस वक्त इंटरनेशनल सोल अलायंस का प्रमुख सहयोगी है। इस तेज रफ्तार जिंदगी में योग अब विश्व भर में लोगों के लिए शांति और सुकून का माध्यम बना है।’
PM ने UAE और भारत की साझेदारी और मजबूत होने की उम्मीद जताई
यूएई और भारत की दोस्ती का मूल UAE का सहिष्णु समाज और भारत के लोकतांत्रिक मूल्यों को देते हुए पीएम मोदी ने कहा कि दोनों देशों की साझेदारी भविष्य में और मजबूत होगी। पीएम मोदी ने कहा कि शेख जायद बिन सुल्तान अल नाहयान ने यूएई को संसार के सभी वर्ग के लोगों के लिए रहने की जगह बनाया है। मौजूदा UAE नेतृत्व की प्रगतिशील नीतियों ने देश को नए क्षेत्रों में भी महाशक्ति के तौर पर तैयार किया। आज UAE में ही लाखों भारतीय रह रहे हैं। यह दोनों देशों की एकता और साझी विरासत का उदाहरण है।
75 दिनों में ही हमने लिए बड़े फैसले : पीएम
अपनी सरकार की उपलब्धियों का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि 75 दिनों में ही हमारी सरकार ने कई बड़े फैसले लिए हैं। पीएम मोदी ने कहा, ‘नई सरकार के गठन के साथ ही हमने जल मंत्रालय बनाया। भारत जल संकट को लेकर बहुत गंभीर है। हम भारत के हर व्यक्ति के कल्याण के लिए काम करना चाहते हैं। खास तौर पर गरीब, निचले तबके और कमजोर समुदाय के लोगों के लिए काम करना हमारी प्राथमिकता है। संसद का पिछला सत्र बहुत उपयोगी रहा और सबसे ज्यादा सुचारू ढंग से चलने के कारण चर्चित रहा।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »