बांकुरा में पीएम मोदी बोले, बीजेपी स्कीम पर चलती है जबकि टीएमसी स्‍कैम पर चलती है

बांकुरा (पश्चिम बंगाल)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लगातार दूसरे दिन पश्चिम बंगाल में चुनावी रैली की। रविवार को बांकुरा में जनसभा करने पहुंचे पीएम मोदी ने मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी और उनकी सरकार को निशाने पर रखा। उन्‍होंने कहा कि बीजेपी स्कीम (योजना) पर चलती है, जबकि टीएमसी स्‍कैम (घोटाला) पर चलती है। स्कीम किसी भी सरकार की हो, किसी ने भी लागू की हो लेकिन TMC स्कैम के लिए कोई न कोई तरीका निकाल ही लेती है।
मोदी ने कहा कि टीएमसी का मंत्र ही है- जहां स्कीम, वहां स्कैम। आयुष्मान भारत, पीएम किसान सम्मान निधि, डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर से जुड़ी योजनाओं में स्कैम नहीं कर सकते थे, इसलिए इनको पश्चिम बंगाल में लागू करने से ही इनकार कर दिया।
‘मुझे लात मार लीजिए पर बंगाल के सपनों को लात नहीं मारने दूंगा दीदी’
ममता बनर्जी पर हमला जारी रखते हुए मोदी ने कहा- ‘बंगाल में दीदी के लोग दीवार पर तस्वीरें बना रहे हैं। तस्वीरों में दीदी मेरे सिर पर अपना पैर मार रही हैं। मेरे सिर के साथ फुटबॉल खेल रही हैं। आप बंगाल के संस्कार और यहां की महान परंपरा का अपमान क्यों कर रही हो दीदी? दीदी अगर आप चाहती हैं तो आप अपना पैर मेरे सिर पर रख सकती हैं, मुझे लात मार सकती हैं। लेकिन मेरी दूसरी बात भी कान खोलकर सुन लीजिए। मैं आपको अब बंगाल के विकास को लात नहीं मारने दूंगा। मैं आपको बंगाल के सपनों को लात नहीं मारने दूंगा।’
‘दीदी को अब मेरा चेहरा भी पसंद नहीं है’
अपनी रैली में मोदी ने लगातार ममता बनर्जी को निशाने पर रखा। उन्‍होंने कहा, मैं जितना दीदी से जनता से जुड़े सवाल पूछता हूं, उतना वो मुझ पर गुस्सा करती हैं। अब तो कह रही हैं कि उनको मेरा चेहरा भी पसंद नहीं है। अरे दीदी, लोकतंत्र में चेहरा नहीं, जनता की सेवा, जनता के लिए किया गया काम कसौटी पर होता है। दीदी और उनकी सरकार ने 10 साल के दौरान पश्चिम बंगाल में क्या खेला किया, ये पूरा क्षेत्र इसका प्रत्यक्ष प्रमाण है। स्वर्गीय अजीत मूर्मू जैसे हमारे अनेक आदिवासी साथी तृणमूल के खैला के कारण शहीद हो गए।
’10 साल पहले ये चेहरा दिखा दिया होता तो…’
पीएम मोदी ने तुष्टिकरण को लेकर भी ममता बनर्जी को घेरा। उन्‍होंने कहा कि तुष्टिकरण और वोटबैंक की राजनीति ने आपको क्या बना दिया है।
आपने अपना ये असली चेहरा 10 साल पहले दिखा दिया होता तो बंगाल में कभी आपकी सरकार नहीं बनती। ये हिंसा, अत्याचार, उत्पीड़न ही करना था तो फिर मां-माटी-मानुष की बात क्यों की आपने?
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *