सिंगापुर में भारतीय समुदाय से मिले पीएम मोदी, प्रधानमंत्री और राष्‍ट्रपति से भेंट कल

सिंगापुर। तीन देशों के दौरे के आखिरी पड़ाव पर मोदी गुरुवार को सिंगापुर पहुंचे। यहां उन्होंने गुरुवार को भारतीय समुदाय के लोगों से मुलाकात की। वे शुक्रवार को यहां शांगरी-ला डायलॉग को संबोधित करेंगे और सिंगापुर के प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति से भी मिलेंगे। इससे पहले मोदी इंडोनेशिया से मलेशिया गए। वहां उन्होंने दुनिया के सबसे उम्रदराज प्रधानमंत्री 92 साल के महातिर मोहम्मद से मुलाकात की। मोदी प्रधानमंत्री बनने के बाद दूसरी बार मलेशिया पहुंचे थे। इससे पहले वे 2015 में गए थे।
सिंगापुर में मोदी के सम्मान में कल विशेष भोज
विदेश मंत्रालय के मुताबिक प्रधानमंत्री मोदी के सम्मान में शुक्रवार को आधिकारिक स्वागत समारोह का आयोजन होगा। मोदी सिंगापुर के प्रधानमंत्री ली एच लूंग के साथ बातचीत करेंगे और राष्ट्रपति हलीमा याकूब से शिष्टाचार भेंट करेंगे।
ली, मोदी के लिए आधिकारिक भोज का आयोजन करेंगे। मोदी और ली गुरुवार को मरीना बे सैंड्स कन्वेंशन सेटर में एक व्यापारिक कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे। इसमें कौशल विकास, शहरी नियोजन और आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस के क्षेत्र में सहयोग के अलावा दोनों देशों के बीच सहयोग को बढ़ावा देंगे।
आसियान देशों के साथ हमारे संबंध मजबूत
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने ट्वीट कर कहा, “प्रधानमंत्री मोदी 3 देशों की यात्रा के दूसरे चरण में सुबह मलेशिया की राजधानी कुलालालंपुर पहुंचे। उन्होंने प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद से मुलाकात की, हमारी एक्ट ईस्ट पॉलिसी में मलेशिया अहम रणनीतिक सहयोगी और प्राथमिकता वाला देश है।’
विदेश मंत्रालय ने कहा कि दोनों प्रधानमंत्रियों के बीच व्यापार और निवेश के अलावा द्विपक्षीय संबंधों को और मजबूत बनाने पर चर्चा हुई। मोदी 3 देशों की यात्रा के पहले चरण में मंगलवार को इंडोनेशिया पहुंचे थे। वहां दोनों देशों के बीच 15 करार हुए थे। भारत आसियान के तीन देश इंडोनेशिया, मलेशिया और सिंगापुर का रणनीतिक भागीदार है।
मलेशिया में 61 साल बाद महातिर मोहम्मद की पार्टी जीती
मलेशिया में 10 मई को महातिर की अगुआई वाली पकतन हरपन पार्टी ने बारिसन नेशनल पार्टी को हराया था। बारिसन नेशनल पार्टी ब्रिटेन से आजादी मिलने बाद बीते 61 साल से मलेशिया में काबिज थी।
इंडोनेशिया में दक्षिण-पूर्व एशिया की सबसे बड़ी मस्जिद देखने पहुंचे थे मोदी
नरेंद्र मोदी बुधवार को इंडोनेशिया में इस्तिकलाल मस्जिद और सेंट्रल जकार्ता में रथ पर सवार अर्जुन की मूर्ति देखने पहुंचे थे।
1978 में बनी इस्तिकलाल मस्जिद दक्षिण-पूर्व एशिया की सबसे बड़ी मस्जिद है। इस्तिकलाल का मतलब होता है आजादी। इंडोनेशिया की सांस्कृतिक विविधता का पता इसी बात से चलता है कि इस मस्जिद को एक ईसाई आर्किटेक्ट फ्रेडरिक सिलाबान ने डिजाइन किया था।
इस्तिकलाल मस्जिद जाने का बाद मोदी, विदोदो के साथ अर्जुन का रथ देखने पहुंचे। महाभारत के युद्ध में भगवान कृष्ण अर्जुन के सारथी बने थे। यहां एक चट्टान पर बनी कलाकृति में कृष्ण-अर्जुन को इसी रूप में दिखाया गया है।
अर्जुन के रथ में 8 घोड़े जुते हुए हैं, जावा के दर्शन के मुताबिक इन्हें अष्टव्रत नाम दिया गया है। ये आठ घोड़े किस्मा (धरती), सूर्य, अग्नि, कार्तिक (तारे), वरुण (जल का देवता), समीरन (वायु), तीर्त (बारिश) और केंद्रा (महीने) का प्रतीक हैं।
इस कलाकृति को 1987 में बनाया गया था। भारत से जकार्ता जाने वाले पर्यटकों के लिए ये आकर्षण का प्रमुख केंद्र है।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »