अर्थव्‍यवस्‍था में सुधार के लिए देश के दिग्‍गज कारोबारियों से मिले पीएम मोदी

नई दिल्‍ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज देश के बड़े कारोबारियों से मुलाकात की. पीएम मोदी ने अर्थव्‍यवस्‍था में सुधार लाने के तरीकों और रोजगार के अवसर पैदा करने के उपायों पर दिग्गजों कारोबारियों के साथ व्यापक बातचीत की. इस बैठक में देश के सबसे अमीर शख्स और रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी, टाटा ग्रुप के रतन टाटा, एयरटेल के मालिक सुनील भारती मित्तल, अडानी ग्रुप के चेयरमैन गौतम अडानी समेत सभी बड़े दिग्गज कारोबारी मौजूद थे.
बता दें कि चालू वित्त वर्ष के दूसरी तिमाही यानी जुलाई-सितंबर माह के लिए सकल घरलू उत्पाद घटकर 4.5 फीसदी के स्तर पर आ गया है. इसके पहले की तिमाही में यह जीडीपी दर 5 फीसदी के स्तर पर था. यह पिछली 26 तिमाही में सबसे कम है. पहली तिमाही में विकास दर 5 फीसदी पर आ गई है. वहीं, पिछले वित्‍त वर्ष की समान तिमाही में जीडीपी ग्रोथ रेट 7 फीसदी दर्ज की गई थी. विकास दर में गिरावट ने सरकार की चिंता बढ़ा दी है इसलिए पीएम मोदी विकास दर को रफ्तार देने के लिए देश के दिग्गज कारोबारियों से चर्चा की.
सरकार ने आर्थिक सुस्ती से निपटने के लिए कई कदम उठाए हैं. सरकार ने कॉरपोरेट टैक्स में कटौती कर जहां कंपनियों को बड़ी राहत दी है. वहीं रियल एस्टेट सेक्टर में छाई मंदी को दूर करने के लिए 20 हजार करोड़ रुपये का फंड बनाने की घोषणा की है. साल 2019 के आखिरी दिन यानी 31 दिसंबर को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 102 लाख करोड़ रुपये की नेशनल इंफ्रास्क्ट्रक्चर प्रोजेक्ट्स (NIP) की घोषणा की है.
लगातार चौथे महीने कोर सेक्टर की ग्रोथ थमी
देश में बुनियादी क्षेत्र के 8 उद्योगों के उत्पादन की वृद्धि दर नवंबर में घटकर 1.5% पर आ गई है. यह लगातार चौथा महीना है, जब इन आंकड़ों में गिरावट देखी गई है. 8 सेक्टरों में 5 में निगेटिव ग्रोथ रही. पिछले साल नवंबर में 8 कोर सेक्टर की ग्रोथ में 3.3 फीसदी तेजी दर्ज की गई थी. कोर सेक्टर में अगस्त से गिरावट है. इस महीने कोयला, कच्चा तेल, नेचुरल गैस, स्टील और बिजली के उत्पादन में गिरावट आई है. 8 कोर सेक्टरों में कोयला, कच्चा तेल, नेचुरल गैस, रिफाइनरी उत्पाद, फर्टिलाइजर्स, स्टील, सीमेंट और इलेक्ट्रिसिटी शामिल हैं. नवंबर में सीमेंट उत्पादन की दर घटकर 4.1% रही, जो नवंबर 2018 में 8.8% थी.
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *