पीएम मोदी ने लेह-लद्दाख में भारत की सबसे लंबी सुरंग जोजिला टनल की आधारशिला रखी

नई दिल्‍ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एशिया की सबसे लंबी और सामरिक रूप से महत्वपूर्ण zojila tunnel की आधारशिला रखी। यह सुरंग श्रीनगर , करगिल और लेह के बीच सभी मौसमों में संपर्क मुहैया कराएगी। लेह , कश्मीर और जम्मू क्षेत्रों के एक दिवसीय दौरे पर आए प्रधानमंत्री ने यहां बौद्ध आध्यात्मिक गुरू 19 वें कुशक बाकुला रिनपोछे की 100 वीं जयंती के समापन समारोह में भी भाग लिया। इस zojila tunnel के निर्माण से जोजिला दर्रे को पार करने का समय साढ़े तीन घंटे से घटकर मात्र 15 मिनट हो जाएगा।

जोजिला दर्रा श्रीनगर – करगिल – लेह राष्ट्रीय राजमार्ग पर 11,578 फुट की ऊंचाई पर स्थित है और सर्दियों में भारी हिमपात के कारण यह बंद हो जाता है जिससे लद्दाख क्षेत्र का कश्मीर से सड़क संपर्क टूट जाता है। इस परियोजना में 14.15 किलोमीटर लंबी सुरंग बनाने का लक्ष्य है जिसमें दोनों तरफ से वाहनों की आवाजाही होगी। एक समारोह में यहां मोदी ने कहा कि सभी तीनों क्षेत्रों में आज 25,000 करोड़ रुपये की लागत से परियोजनाओं का या तो उद्घघाटन किया जाएगा या उनकी आधारशिला रखी जाएगी। उन्होंने कहा कि यह राज्य के तेजी से विकास की ओर केंद्र और प्रदेश सरकारों की प्रतिबद्धता दिखाता है।

मोदी ने अपनी सरकार बनने के बाद देश में चल रहे विकास कार्यों पर कहा कि 18,000 गांवों को 1,000 दिनों के भीतर बिजली मुहैया कराई गई। इन गांवों को आजादी के बाद से बिजली नहीं मिली थी। उन्होंने कहा कि देश में आजादी के 70 साल बाद चार करोड़ घरों को बिजली नहीं मिली थी, उन्हें डेढ़ साल के भीतर बिजली के कनेक्शन दिए जाएंगे।

बता दें कि पाकिस्तान और चीन के साथ सीमा साझा करने वाले इस क्षेत्र में मोदी की यह दूसरी यात्रा है। श्रीनगर से 450 किलोमीटर उत्तर में स्थित लेह में मोदी इससे पहले 12 अगस्त 2014 को आए थे और तब उन्होंने एक जल विद्युत परियोजना का शुभारंभ किया था। हवाईअड्डे पर पहुंचने के बाद आगे जाने से पहले प्रधानमंत्री सड़क पर रुके और उन्होंने स्वागत के लिए आए लोगों से मुलाकात की। पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा कि मैं गर्मजोशी भरे स्वागत के लिए लेह के शानदार लोगों का आभार जताता हूं। मैं यहां आकर बेहद खुश हूं।
इस zojila tunnel के निर्माण से जोजिला दर्रे को पार करने का समय साढ़े तीन घंटे से घटकर मात्र 15 मिनट हो जाएगा।-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »