सुभाष चंद्र बोस की 122वीं जयंती पर पीएम ने किया उनकी यादों के म्यूजियम का उद्घाटन

उद्घाटन के बाद म्‍यूजियम का अवलोकन करते प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी
उद्घाटन के बाद म्‍यूजियम का अवलोकन करते प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी

नई दिल्‍ली। 23 जनवरी का इतिहास में काफी महत्व है। इसी दिन 1897 में देश के महान क्रांतिकारी सुभाष चंद्र बोस का जन्म हुआ था। उनकी 122वीं जयंती पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लाल किले में एक म्यूजियम का उद्घाटन किया है।
संग्रहालय से जुड़ीं खास बातें
इस म्यूजियम में नेताजी के बचपन के दिनों से लेकर उनकी रहस्यमय मौत तक की रोचक जानकारी उपलब्ध होगी। यहां आजाद हिंद फौज के बारे में भी जानकारी मिलेगी। इसमें बोस और आजाद हिंद फौज से जुड़ी अन्य चीजों का प्रदर्शन किया जाएगा। प्रदर्शित की जाने वाली चीजों में नेताजी द्वारा इस्तेमाल की गई लकड़ी की कुर्सी और तलवार, आईएनए के पदक, बैज, वर्दी आदि शामिल होंगी। पीएम मोदी ने 21 अक्टूबर, 2018 को इस म्यूजियम की आधारशिला रखी थी।
म्यूजियम लाल किले की पहली मंजिल पर स्थित बैरक में है। यह वही स्थान है जहां अंग्रेजों ने आजाद हिंद फौज के तीन सैन्य अधिकारियों पर मुकदमा चलाया था और उनका कोर्ट मार्शल किया था। उस कोर्ट मार्शल को ‘रेड फोर्ट ट्रायल’ के नाम से जाना जाता है। बाद में तीनों सैन्य अधिकारियों यानी कर्नल प्रेम सहगल, कर्नल गुरुबख्श सिंह और मेजर जनरल शाहनवाज खान को फांसी दे दी गई थी। ट्रायल 5 नवंबर, 1945 को शुरू हुआ था और 3 जनवरी, 1946 तक चला था।
तीन मंजिला म्यूजियम
इस तीन मंजिला म्यूजियम का नाम नेताजी सुभाष चंद्र बोस और आईएनए रखा गया। इसकी शुरुआत एक गैलरी से होती है जिसमें उनके स्कूल के दिनों के बारे में बताया गया। उसमें यह भी बताया गया है कि वह कैसे स्वामी विवेकानंद और श्री अरबिंदो से प्रभावित हुए थे। वहां अन्य गैलरी भी हैं जिनमें कांग्रेस में उनके दिनों, उनके अंग्रेजों से बचकर निकलने, आजाद हिंद फौज के गठन, आईएनए को लेकर दक्षिण पूर्व एशिया में भारतीय मूल के लोगों की भूमिका के बारे में बताया गया है।
ऑडियो-विजुअल्स
वहां एक फिल्म भी दिखाई जाएगी जिसके लिए वॉइस ओवर बॉलिवुड के अभिनेता अभिषेक बच्चन ने दिया है। इन ऑडियो-विजुअल्स के अलावा आगंतुकों के लिए आर्काइव और रिपोर्ट्स भी हैं। यहां 100 से ज्यादा पैनल लगे हैं जो बोस के पूरे जीवन का परिचय देंगे। उसमें आजाद हिंद फौज के कुछ भूतपूर्व सैनिकों का भी इंटरव्यू दिखाया जाएगा।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »