असम में PM ने 1 लाख से ज्यादा मूल निवासियों को भू स्वामित्व का पट्टा सौंपा

गुवाहाटी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि हमारी सरकार ने जनजातीय लोगों के जीवन स्तर को सुधारने के लिए कई बड़े काम किये हैं. पीएम मोदी ने आज 1 लाख से ज्यादा मूल निवासियों को भूमि के स्वामित्व का अधिकार वाला पट्टा सौंपा. अब तक दो लाख से ज्यादा जनजातीय परिवार को जमीन का पट्टा दिया जा चुका है. मोदी ने कहा कि आज असम की सरकार ने आपके जीवन की बड़ी चिंता दूर की है. मूल निवासी परिवारों को भूमि के स्वामित्व का अधिकार मिलने से आपके जीवन की बड़ी चिंता अब दूर हो गई है.
प्रधानमंत्री ने कहा कि 2019 में सरकार द्वारा बनायी गयी नयी भूमि नीति अपने सही मालिकों को भूमि देने के लिए एक कारगर कदम साबित हो रहा है. पिछले कुछ वर्षों में 2.25 लाख से अधिक मूल परिवारों को जमीन का पट्टा दिया गया है. असम में जब हमारी सरकार बनी तो उस समय भी यहां करीब-करीब 6 लाख मूल निवासी परिवार ऐसे थे जिनके पास जमीन के कानूनी कागज नहीं थे.
मोदी ने कहा कि जैसे ही सर्वानंद सोनोवाल जी के नेतृत्व में यहां हमारी डबल इंजन की सरकार आई. हमने असम के जनजातीय लोगों की इस चिंता को दूर करने के लिए गंभीरता के साथ काम किया. असम की लगभग 70 जनजातियों को सामाजिक सुरक्षा प्रदान की गयी है. हम उन्हें तेजी से विकास की ओर भी ले जा रहे हैं. मोदी ने कहा कि आज नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती को पूरा देश पराक्रम दिवस के रूप में मना रहे हैं.
पीएम मोदी ने कहा कि असम की डबल इंजन की सरकार की वजह से असम का विकास हुआ है. यहां रोजगार के अवसर बढ़े हैं. उन्होंने कहा कि हमारी सरकार गरीबों के विकास के लिए प्रतिबद्ध है. उन्होंने कहा कि असम के लोगों का मेरे पर आशीर्वाद है. मेरा सौभाग्य है कि मैं इस पवित्र धरती पर आपके बीच हूं.
पीएम मोदी ने कहा कि असम के लोगों प्रेम और स्नेह है जो मुझे बार-बार असम लेकर आता है. उन्होंने कहा कि शिवसागर को हमारे सरकार द्वारा भारत के 5 सबसे प्रतिष्ठित पुरातात्विक स्थलों में से एक के रूप में चुना जा रहा है. 2014 से अटल जी की सरकार से समय में जो असम की संस्कृति और सुरक्षा को बनाए रखने के लिए काम किये गये हैं, उसे बरकरार रखना हमारी प्राथमिकता रही है.
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *