एग्जाम में पास कराने के नाम पर छात्राओं का शारीरिक शोषण

फरीदाबाद। जिले के एक सरकारी कॉलेज के स्टाफ पर एग्जाम में पास कराने की आड़ लेकर छात्राओं के शारीरिक शोषण का आरोप लगा है। एक छात्रा ने स्टाफ के नाम लिखकर बाकायदा आपबीती प्राचार्य को भेजी है। इसमें तीन लोगों को मुख्य आरोपी बताया गया है। साथ ही कॉल रिकॉर्डिंग व वीडियो रिकॉर्डिंग भी सौंपी गई है, जिसमें ये अन्य छात्राओं के नाम लेते हुए भी सुनाई दे रहे हैं।
प्राचार्य को दी शिकायत में एक छात्रा ने आरोप लगाया कि कॉलेज में तीन लोगों की तिकड़ी छात्राओं को अपने जाल में फंसाकर उनका शोषण करती है। ऐडमिशन के समय से ही इनका सिलसिला शुरू हो जाता है। ये छात्राओं के मोबाइल नंबर हासिल कर उनसे बातचीत बढ़ाते हैं, उन्हें एग्‍जाम में पास कराने का लालच देते हैं। बाकायदा यह कहा जाता है कि तुम्हारा पेपर अलग कमरे में बैठा कर करवा देंगे। इसकी एवज में शारीरिक संबंध बनाने का दबाव बनाया जाता है। फोन पर भी अश्लील वार्तालाप किया जाता है और संबंध बनाने के लिए मजबूर किया जाता है। पत्र में छात्रा ने आरोप लगाए हैं कि इस तिकड़ी में एक असोसिएट प्रोफेसर, एक जूनियर लैब असिस्टेंट व एक चपरासी शामिल है। इस तिकड़ी का मास्टरमाइंड असोसिएट प्रोफेसर को बताया गया है जबकि सारी डील जूनियर लैब असिस्टेंट करता है।
आरोप है कि छात्राओं को जाल में फंसाकर पहले पेपर कराने की एवज में रुपये की बात की जाती है और बाद में धीरे-धीरे शारीरिक संबंधों तक पहुंच जाती है। इन्हें एक्सपोज करने के लिए छात्रा ने सीक्रेट कैमरे से बाकायदा बातचीत का एक वीडियो भी तैयार किया है। इसमें जूनियर लैब असिस्टेंट खुलकर सारी बात करता दिखाई भी देता है। इसके अलावा छात्रा ने एक कॉल रिकॉर्डिंग भी की है। इस कॉल रिकॉर्डिंग में दूसरी छात्राओं को अपने साथ लेकर जाने की बात भी संबंधित व्यक्ति ने कबूल की है। साथ ही उसका पेपर कराने का दावा भी किया है। छात्राओं के साथ बाहर जाने में कोई दिक्कत न हो, इसलिए हरियाणा टूरिज्म के दो सरकारी होटलों में कमरा बुक कराने की बात भी इसमें कही गई है। वहीं, छात्रा ने अपनी शिकायत में दावा किया है कि ये तीनों मिलकर कई छात्राओं की जिंदगी को बर्बाद कर चुके हैं। अगर पूरे मामले की जांच की जाए तो यह शारीरिक शोषण का प्रदेश का सबसे बड़ा मामला साबित हो सकता है।
घंटों के हिसाब से लेते कमरा
कॉल रिकॉर्डिंग में छात्राओं का शोषण करने वाली तिकड़ी का एक आरोपी यह कहता साफ सुनाई देता है कि दो घंटे की ही तो बात है। बड़खल एरिया में एक हजार रुपये में दो घंटे के लिए कमरा मिल जाएगा। किसी तरह की दिक्कत नहीं होगी। इस कॉल रिकॉर्डिंग में वह बार-बार छात्रा पर दबाव डालता हुआ सुनाई देता है। साथ ही छात्रा का नाम लेकर उसे एग्‍जाम में पास कराने व उसके साथ समय बिताने की बात कहता सुनाई देता है।
लड़की का पूछा रंग-रूप
छात्रा ने एक वीडियो भी प्राचार्य को सौंपा है। इसमें छात्रा अपनी जगह एक अन्य लड़की भेजने की पेशकश संबंधित स्टाफ को करती सुनाई देती है। इस पर कॉलेज की तिकड़ी में शामिल सदस्य दूसरी लड़की के बारे में जानकारी लेता सुनाई देता है। वह लड़की का पता, उसके रंग-रूप आदि के बारे में जानकारी लेता है।
पहले प्रोफेसर को दी थी शिकायत
बताया जा रहा है कि छात्रा ने यह शिकायत पहले एक प्रोफेसर को दी थी। मार्च में शिकायत देने के बाद कोई कार्यवाही नहीं हुई तो छात्रा ने पूरे मामले की विस्तार से शिकायत प्राचार्य को दे दी। शिकायत के साथ ही कॉल रिकॉर्डिंग व वीडियो रिकॉर्डिंग भी सौंपी गई।
कॉलेज में बनाई कमेटी, जांच शुरू
प्राचार्य नरेंद्र कुमार का कहना है कि शिकायत मिलने के बाद से जांच शुरू कर दी है। इसके लिए पांच महिला स्टाफ की कमेटी बनाई गई है। प्राचार्य का कहना है कि उन्हें करीब 15 दिन पहले शिकायत मिली थी। जैसे ही शिकायत मिली, तुरंत जांच प्रक्रिया शुरू करवा दी।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »