बहुमंजिला भवनों में लगी लिफ्ट का वार्षिक निरीक्षण करे शासन: ADF

आगरा। प्रदेश के आवास एवं शहरी नियोजन विभाग द्वारा बहुमंजिला भवनों में लगी हुयी व लगने वाली लिफ्ट (एसक्लेटर) के कुशल संचालन, रख-रखाव एवं शासन द्वारा नामित प्रतिष्ठित एजेंसियों के माध्यम से वार्षिक/द्विवार्षिक निरीक्षण हेतु कानून बनाया जाये ताकि प्रदेश में लिफ्ट से होने वाले हादसों पर अंकुश लगाया जा सके।

यह मांग आगरा डवलपमेन्ट फाउन्डेशन की ओर से उसके सचिव व वरिष्ठ अधिवक्ता के0सी0 जैन द्वारा मुख्यमंत्री के जन शिकायत पोर्टल के माध्यम से व मेल भेजकर की गयी।

भेजी गयी शिकायत में यह उल्लेख किया गया कि आगरा में कल दिनांक 17.02.2020 को रात्रि में आगरा में अत्यन्त दुःखद हादसा हुआ जिसमें मै0 राजेश इलैक्ट्रिकल फर्म के मालिक 52 वर्षीय श्री राजेश गुप्ता जी की मृत्यु लिफ्ट की चैन टूटने से हुये हादसे में हो गयी। समाचार-पत्रों में दुःखद समाचार प्रकाशित हुआ।

उक्त दुःखद घटना प्रदेश में कोई पहली घटना नहीं है अनेकों ऐसी घटनाऐं पूर्व में भी हुई हैं जिसमें अनेकों व्यक्ति लिफ्ट के हादसे का शिकार हुये। उत्तर प्रदेश में कोई भी कानूून नहीं है जो पब्लिक बिल्डिंग व प्राइवेट बिल्डिंग में लिफ्ट के लगाने उसके संचालन व उसके वार्षिक/द्विवार्षिक निरीक्षण करने के सम्बन्ध में हो। प्रदेश में हजारों बहुमंजिला भवन बने हुए हों और काफी बड़ी संख्या में निर्माणाधीन हैं। लिफ्ट ऐसे सभी भवनों में सुचारू रूप से व सुरक्षित रूप से चले और उनका नियमित रख-रखाव हो यह उस भवन में रहने वाले अथवा आने वाले सभी व्यक्तियों की व्यक्तिगत सुरक्षा हेतु अति आवश्यक है।

सचिव जैन द्वारा यह भी उल्लेख किया गया कि अनेक बार बहुमंजिला आवासीय एवं व्यवसायिक भवनों के स्वामियों के मध्य आपसी सामंजस्य के अभाव में भी लिफ्ट का रख-रखाव समुचित नहीं हो पाता है और लिफ्ट या तो ऐसे भवनों में कार्यरत ही नहीं रहती है या फिर खराब स्थिति में काम करती रहती हैं जो खतरों को और हादसों को आमंत्रित करती हैं। बहुमंजिली भवनों में लिफ्ट एक अनिवार्य आवश्यकता है जिसके बिना वृद्ध, बीमार व बच्चे भवन का उपयोग नहीं कर सकते हैं।

यह भी अनिवार्य होना चाहिए कि जिस किसी भवन में भी लिफ्ट लगे वह गुणवत्ता पूर्ण हो तथा उसका नियमित रख-रखाव किया जाये व शासन द्वारा नामित कम्पनियों द्वारा उसका निरीक्षण वार्षिक अथवा द्विवार्षिक हो ताकि भवन में लिफ्ट के रख-रखाव में कोई कमी न रहे।

ए0डी0एफ की ओर से यह आशा व्यक्त की गयी कि ऐसा कानून बनाये जाने पर लिफ्ट के खराब रख-रखाव के कारण होने वाले हादसों में कमी आ सकेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *