PCB चीफ ने कहा, हमारा इस्‍तेमाल करके हमें फेंक दिया गया है

क्रिकेट वर्ल्ड में पाकिस्तान पूरी तरह अलग-थलग पड़ चुका है। नापाक हरकतों के चलते भारत ने तो पहले ही उसका बायकॉट कर रखा था। अब लगता है इंग्लैंड और न्यूजीलैंड से दुश्मनी मोल लेकर उसने खुद के पैर में ही कुल्हाड़ी मार ली है। आतंकी हमले की सूचना पर एक के बाद एक दोनों देशों ने अपना पाकिस्तान दौरा रद्द कर दिया। आतंकियों को पनाह देने वाला हमारा पड़ोसी मुल्क इस वक्त सांप-छछूंदर जैसी स्थिति में है। न निगला जाए, न उगला जाए।
हमारा इस्तेमाल किया गया
कोरोना महामारी के बीच पाकिस्तान ने दो बार इंग्लैंड का दौरा किया था। तब तो हालात बेहद खतरनाक थे। वैक्सीन तक नहीं आई थी। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के मुखिया रमीज रजा ने पूरे मामले पर कहा कि, ‘ऐसा लग रहा है हमारा प्रयोग करके हमें फेंक दिया गया है। न्यूजीलैंड के दौरा रद्द करने के बाद हमें इंग्लैंड से उम्मीद थी। आस थी कि वह पुरानी दोस्ती की लाज रखेगा। अपना टूर नहीं टालेगा, लेकिन हम गलत थे। ईसीबी के पास क्रिकेट बिरादरी के अन्य सदस्यों का आपदा में सहारा बनने का अवसर था, जिससे वो चूक गए।’
अब पाकिस्तान के इंग्लैंड दौरे का क्या होगा?
रमीज राजा ने अगले साल यानी 2022 में होने वाले इंग्लैंड के पाकिस्तान दौरे पर भी बात की। रमीज ने ईसीबी अध्यक्ष इयन वॉटमोर से बातचीत की। पूछा है कि अगर इंग्लैंड अगले साल फिर से खेलने से इंकार कर देगा, तब पाकिस्तान क्या करेगा। रमीज ने विपक्षियों द्वारा सीरीज से पहले वर्कलोड, बायो-बबल, सुरक्षा कारण जैसे कई वजहों को भी गिना दिया। रमीज ने एक दिन पहले वीडियो शेयर कर ऑस्ट्रेलिया के भी पाकिस्तान दौरा रद्द करने की संभावनाओं पर बात की थी। इन सब से पीसीबी को लगभग 110 से 185 करोड़ रुपये के नुकसान का अंदेशा है।
बाबर आजम ने भी भरी हुंकार
पीसीबी के अध्यक्ष रमीज रजा ने अपने खिलाड़ियों, टीम और पूरे अधिकारियों से आत्मनिर्भर होने की बात कही है। पाकिस्तान क्रिकेट टीम के कप्तान बाबर आजम ने ट्वीट किया, ‘फिर से निराशा हाथ लगी। हम हमेशा खेल की भलाई के लिए सोचते हैं लेकिन दूसरे नहीं। हम अपनी क्रिकेट यात्रा में लंबा सफर तय कर चुके हैं और यह वक्त के साथ बेहतर होता जाएगा। हम न केवल टिकेंगे बल्कि समृद्ध भी होंगे। इंशाअल्लाह’
न्यूजीलैंड-इंग्लैंड ने रद्द किया दौरा
साल 2009 में पाकिस्तान के शहर लाहौर में श्रीलंका की टीम बस पर आतंकी हमला हुआ था। इसके बाद से विदेशी टीमें पाकिस्तान के दौरे पर जाने से कतराती रही हैं। इस हमले में छह पुलिसकर्मी और दो नागरिक मारे गए थे। न्यूजीलैंड ने जब बीते हफ्ते सुरक्षा कारणों से अपना दौरा रद्द किया था, उसके बाद ही इंग्लैंड के दौरे पर भी सवाल उठने लगे थे। ईसीबी ने फैसला लिया कि टीमें पाकिस्तान का दौरा नहीं करेंगी। बोर्ड ने खिलाड़ियों और सपोर्ट स्टाफ के शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य को प्राथमिकता देते हुए यह फैसला किया है। कोरोना और बायो-बबल के माहौल के चलते खिलाड़ियों के स्वास्थ्य पर काफी बुरा असर पड़ रहा है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *