KD Hospital में कम खर्चे पर ठीक हो रहे नामी हास्पीटल से निराश मरीज

बेहतरीन चिकित्सा से मल्टी स्पेशियेलिटी KD Hospital में मरीज लता और शांति देवी जैसे तमाम मरीज ठीक हो कर दे रहे दुआएं

मथुरा। मल्टी स्पेशियेलिटी KD Hospital में तमाम कार्पाेरेट नामीगिरामी हास्पीटल से चिकित्सा का समय न मिल पाने या न अन्य कारणों से अपना इलाज और आॅपरेशन करा रहे हैं। इन मरीजों में बीस वर्षीय लता और शांति देवी जैसे तमाम मरीज शामिल हैं। उनका मानना है कि उनको दिल्ली, आगरा या जयपुर जैसे स्थानों पर स्थित नामीगिरामी चिकित्सालयों जैसी बेहतरीन चिकित्सा कम खर्चे पर मिल रही है। वे इसके लिए KD Hospital और चिकित्सक डा. हर्षित जैन को धन्यवाद देना नहीं भूलतीं।

KD Hospital में मौजूद में 20 वर्षीय लता ने बताया कि उनकी जांघ की हड्डी में ट्यूमर से भारी परेशानी थी। आपरेशन के स्थान पर रक्त नलिकाएं होने की जटिलता के चलते कई चिकित्सालयों में तो आॅपरेशन करने से मना कर दिया था। मगर डा. हर्षित जैन ने ओपीडी में पहुंचने पर कुछ जांचें पूरी कराने के बाद आॅपरेशन कर दिया। इससे अब टयूमर से मुक्ति मिलने के बाद चलने में आसानी हो गई है। दूसरी ओर 60 वर्षीय शांतिदेवी ने बताया कि तीन साल पूर्व कूल्हा टूट गया था। जो कि कृत्रिम कुल्हे से उसी समय बदलवा भी लिया था। इसके बाद भी वह चल नहीं पाईं। उन्होंने जयपुर, दिल्ली समेत कई हास्पीटल में दिखाया। मगर कहीं आॅपरेशन करने से मना कर दिया तो कहीं खर्चा ज्यादा बताया। केडी हास्पीटल की जानकारी मिलने पर डा. हर्षित जैन ने रिवीजन टोटल हिप रिप्लेसमेंट और प्लेटिंग के आॅपरेशन की हामी भरी। अब आॅपरेशन के बाद चलने की सहूलियत हो गई हैं। दोनों आॅपरेशनों की टीम में डा. हर्षित जैन, डा. एंटिन, डा. प्रफुल्ल हिरोडे, डा, प्रतीक अग्रवाल, डा. हेमराज, एनथिस्ट डा. निजावन सहायक राम मोहन, पवन, प्रदीप, शाहरुख, शोहित और सिस्टर शाइना मौजूद रहे।

दोनों मरीज अब चलने फिरने में पूर्णतया सक्षम-डा. हर्षित जैन
डा. हर्षित जैन ने बताया कि दोनों ही सर्जरी काॅॅफी जटिल थीं। लता की जांघ की हड्डी में से बडे चीकू के साइज के ट्यूमर को निकाला है। टयूमर के आस-पास मांस पेशियों में काॅफी संख्या रक्त नलिकाएं थीं। इनको बचा कर टूयूमर निकाला गया है। शांति देवी की हड्डियां काफी कमजोर थीं। कूल्हा अंदर की ओर धंसा हुआ था। इससे उनके आॅपरेशन में काफी मेहनत और समय लगा। अब दोनों मरीज चलने फिरने में पूर्णतया सक्षम हैं।

दिल्ली-जयपुर के जाने के बजाय केडी हास्पीटल आएं-डा. रामकिशोर अग्रवाल
आरके एजुकेशन हब के चैयरमेन डा. रामकिशोर अग्रवाल, वाइस चैयरमेन पंकज अग्रवाल और एमडी मनोज अग्रवाल ने कहा कि केडी हास्पीटल का हड्डी रोग विभाग का समृद्व है। विभाग में एक से एक बेहतरीन चिकित्सक मौजूद है। इन्हीं चिकित्सकों में से एक डा. हर्षित जैन है। उन्होंने ब्रजवासियों से अपील की कि वे दिल्ली-जयपुर या आगरा जाने के बजाय केडी हास्पीटल आकर यहां की चिकित्सा सुविधाओं का लाभ उठाएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »