परवरिश: कुछ बातें जिन्हें सिर्फ मां ही सिखा सकती है

एक बच्चे की परवरिश में मां और बाप दोनों का रोल बेहद अहम होता है लेकिन कुछ बातें ऐसी होती हैं जिन्हें सिर्फ एक मां ही सिखा सकती है, खासकर एक बेटी को।
हालांकि ऐसा नहीं है कि पिता बेटी को कुछ नहीं सिखा सकते लेकिन कुछ बातें ऐसी होती हैं जिन्हें बेटियां पिता के बजाय मां के साथ शेयर करती हैं। इसके पीछे कई वजहें हो सकती हैं। मसलन, कंफर्ट लेवल या फिर हिचकिचाहट।
खैर, आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि एक मां को अपनी बेटी को क्या-क्या अहम बातें सिखानी चाहिए ताकि वह खुद को एक सम्मानित और मजबूत महिला के तौर पर स्थापित कर सके।
1- बेटी को सिखाएं कि वह सबसे बेहतर है और उसके लिए कुछ भी नामुमकिन नहीं है। उसे खुद में विश्वास रखने की सीख दें ताकि किसी भी मुसीबत में वह घबराए नहीं और डटकर सामना करे। जिंदगी में अकसर ऐसे मोड़ आ जाते हैं जहां एक लड़की का आत्मविश्वास डगमगाने लगता है। यह मोड़ एक रिलेशनशिप में भी हो सकता है या फिर प्रोफेशनल लाइफ में भी हो सकता है लेकिन अगर आत्मविश्वास रहेगा तो वह हर मुसीबत से लड़कर निकल आएगी।
2- आपके लिए वही व्यक्ति सही है जो आपकी इज्जत करता है, सम्मान देता है। यह बात बेटी को जरूर बताएं। ऐसे किसी इंसान के लिए अपनी जिंदगी बर्बाद करने का कोई औचित्य नहीं जो न तो आपसे प्यार करता है और न ही आपको सम्मान देता है। बेटी को सिखाएं कि उस इंसान की खुशी से ज्यादा जरूरी उसकी खुद की खुशी और जिंदगी है, जो अनमोल है।
3- एक महिला को प्यार और समर्पण की मूरत माना जाता है, लेकिन यह समझना और समझाना भी बेहद जरूरी है कि दूसरों के प्रति समर्पण के चक्कर में खुद को न खो दें। किसी भी रिश्ते को लेकर हो रही असुरक्षा की भावना को खुद पर हावी न होने दें।
4- बेटी को पूरी छूट दें कि वह अपने फैसले खुद ले सकें। लेकिन वह फैसला सही है या गलत, इसे लेकर उसे जागरुक करना और समझाना आपकी जिम्मेदारी है। अगर लिया गया फैसला बेटी की नजर में सही है और आपकी नजर में गलत, तो उसे समझाएं और बताएं कि उससे क्या नुकसान हो सकता है। हालांकि बेटी को बोलने का पूरा मौका दें।
5- एक बेटी के लिए उसकी सबसे अच्छी दोस्त मां ही हो सकती है। इसलिए अपनी बेटी की बेस्ट फ्रेंड बनने की कोशिश करें ताकि वह आपसे कुछ न छिपाए और किसी भी परेशानी में होने पर आपसे शेयर कर सके।
6- घर-परिवार में अन्य लोगों की देखभाल और उनकी लाइफ के अलावा खुद की केयर भी बेहद जरूरी है। बेटी को यह बात समझाएं और बताएं कि बाकी लोगों की देखभाल के साथ-साथ खुद की देखभाल रखना भी कितना जरूरी है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »