आर्थिक तंगी के चलते सड़क पर भीख मांगने को विवश है Para-athlete

नई दिल्‍ली। मध्य प्रदेश के Para-athlete मनमोहन सिंह लोधी आर्थिक तंगी के चलते सड़क पर भीख मांगने को विवश है। Para-athlete लोधी ने राष्ट्रीय स्तर पर कई पदक जीते, जिसके बाद मध्‍यप्रदेश के मुख्‍यमंत्री शिवराज के साथ साथ कई अन्‍य नेताओं ने भी तमाम वादे किए लेकिन वादे पूरे न होने के कारण अब वह सड़कों पर भीख मांगता नजर आ रहा है।

लोधी ने 2017 के नेशनल गेम्स में जीता था पदक
समाचार एजेंसी एएनआई की खबर के अनुसार, मध्यप्रदेश में नरसिंहपुर में राष्ट्रीय स्तर के पैरा-एथलीट मनमोहन सिंह लोधी ने राष्ट्रीय स्तर पर कई पदक जीते हैं। उनका कहना है कि जब उन्होंने पदक जीते, तो उन्हें सरकारी नौकरी और कई अन्य पुरस्कारों का आश्वासन दिया गया। उन्होंने बताया कि वह राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से कई बार मिले और उन्हें वादों की याद दिलाई, लेकिन सरकार की ओर से किसी भी प्रकार की सकारात्मक प्रतिक्रिया नहीं मिली। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने मेरे सामने कोई रास्ता नहीं छोड़ा है।मनमोहन ने बताया कि 2017 के नेशनल गेम्स में 100 मीटर रेस इवेंट के दौरान उन्होंने कई पदक अपने नाम किए थे।

आर्थिक परेशानी से जूझने के कारण मजबूरी में उठाया कदम
पैरा-धावक मनमोहन का कहना है कि उन्होंने मजबूर होकर सभी पदक अपने गले में लटकाकर, अपनी प्रशिक्षण जर्सी पहने हुए सड़क पर भीख मांगने का फैसला किया है। उन्होंने कहा, “मैं आर्थिक रूप से कमजोर हूं। मुझे खेलने के लिए और परिवार को चलाने के लिए पैसों की जरूरत है। अगर मुख्यमंत्री मेरी मदद नहीं करते हैं, तो मुझे सड़कों पर भीख मांगकर अपनी आजीविका कमानी ही पड़ेगी।” मनमोहन अकेले नही हैं जो राजनेताओं के वादों से जुड़ी ऐसी दुर्दशा के शिकार रहे हों। अतीत में कई एथलीटों ने ऐसी शिकायतें सामने रखी हैं।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »