शिकायत के बावजूद भी नहीं बनी Paliwal park की पुलिया

Paliwal park की पुलिया के साथ्चौ चौराहों और पुलियों के काम में देरी आखिर क्यों?

आगरा। Paliwal park का यूनिवर्सिटी वाला चौराहा है, जहां पिछले 7-8 माह से नाले की पुलिया का निर्माण कार्य चल रहा है। कार्य अधूरा पड़ा है। यह चौराहा महत्वपूर्ण है, हजारों वाहन इस चौराहे से प्रतिदिन गुजरते हैं। महात्मा गांधी मार्ग और विजय नगर क्षेत्र को यह जोड़ता है लेकिन नगर निगम की उदासीनता देखिये कि इस पुलिया के कार्य को पूरा ही नहीं किया गया है। नतीजा यह है कि यहां ट्रेफिक जाम हो जाता है। स्कूलां की छुट्टी के समय और भी अधिक कठिनाई हो जाती है। चौराहे पर पुलिस तैनात रहती है किन्तु पुलिया के अधूरे निर्माण के कारण चौराहा ट्रेफिक जाम से बच नहीं पाता है।
यह समस्या मुख्यमंत्री के जनसुनवाई के पोर्टल के माध्यम से के0सी0 जैन, वरिष्ठ अधिवक्ता द्वारा नगर निगम आगरा को 14 जून 2018 को बताई गई, लेकिन पहले तो नगर निगम ने 30 जून 2018 को ही यह कहकर शिकायत पर रिपोर्ट लगा दी कि यह आगरा विकास प्राधिकरण से संबंधित है। जब दोबारा दिनांक 14.8.2018 को मुख्यमंत्री कार्यालय को दी गई अपनी फीडबैक के आधार पर शिकायत को पुर्नजीवित कराया गया और अब दि0 22.9.2018 की रिपोर्ट आई है, जिसमें नगर निगम यह कहकर निर्माण नहीं कर रहा है कि पुलिया मुख्य मार्ग पर है, जिसका निर्माण जनकपुरी महोत्सव के तुरन्त बाद प्रारंभ कर दिया जायेगा।
जनकपुरी का आयोजन समाप्त हो चुका है लेकिन अभी तक पुलिया का कार्य शुरू नहीं हो सका है। स्थल पर न तो निर्माण एजेन्सी का नाम लिखा है न ही निर्माण पूर्ण होने की प्रस्तावित समयावधि का उल्लेख है। यह भी एक सवाल है कि आखिर नगर निगम ने दि0 30 जून 2018 को इस कार्य को आगरा विकास प्राधिकरण से संबंधित किस आधार पर बता दिया। मुख्यमंत्री के जनसुनवाई पोर्टल पर भी यह रिपोर्ट क्या गैरजिम्मेदाराना नहीं थी?
स्थानीय निवासियों द्वारा यह मांग की जा रही है कि चौराहे पर पुलिया निर्माण का कार्य यथाशीघ्र होना चाहिए ताकि ट्रेफिक जाम इत्यादि की समस्या उत्पन्न न हो और आवागमन सुरक्षित हो। यह भी मांग की गई कि चौराहे और चलती हुई सड़कों पर कार्य जल्दी से जल्दी होने चाहिए। पालीवाल पार्क में सड़क चौड़ीकरण के कारण धूल के गुब्बार उठते हैं, उससे भी पार्क में घूमने वाले व वहां से गुजरने वाले सभी दुःखी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »