35 साल पहले कराची से आई महिला बन गई ‘प्रधान’, FIR के आदेश

एटा। यूपी के एटा जिले में पाकिस्तानी महिला के प्रधान बनने का मामला सामने आने के बाद हड़कंप मचा हुआ है। मामले की जानकारी मिलते ही पदाधिकारियों ने पाकिस्तानी महिला को उसके पद से हटा दिया है।
जनवरी 2020 में ग्राम प्रधान शहनाज बेगम की मौत के बाद पाकिस्तानी नागरिक बानो बेगम कार्यवाहक प्रधान बन गई। अब इस मामले में जांच के साथ एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया गया है।
2015 में बानो बेगम गुदाऊ की ग्राम पंचायत सदस्य चुनी गई। शिकायत के बाद बानो बेगम ने कार्यवाहक प्रधान पद से इस्तीफा दे दिया था। जांच के बाद जिला पंचायत राज अधिकारी एटा आलोक प्रियदर्शी ने ग्राम पंचायत सेक्रेटरी ध्यान पाल सिंह को FIR दर्ज कराने के आदेश दिए हैं। जनवरी 2020 में बानो बेगम को ग्रामीणों ने प्रस्ताव पास करने के बाद कार्यवाहक प्रधान बनाया था।
इस मामले में महिलाा की शिकायत गांव के ही रहने वाले कुवेदान खान ने 10 दिसम्बर की गई थी। जनवरी 2020 में ग्राम प्रधान शहनाज बेगम की मौत के बाद बानो बेगम को प्रधान चुना गया था। बानो 35 साल पहले पाकिस्तान से एटा रिश्तेदारी में अपने परिजनों से मिलने के लिए आई थी। यहां अख्तर अली से निकाह कर लिया था। तभी से लॉन्ग टर्म वीजा को बढ़वाकर रह रही थी। उसने कई बार भारतीय नागरिकता हासिल करने के लिए आवेदन भी दिया था।
गांव गुदाऊ के कुवैदान खान ने 10 दिसंबर को डीपीआरओ से शिकायत की। शिकायत के बाद पुलिस से जांच कराई गई। शिकायत की जानकारी मिलते ही बानो बेगम ने प्रधान पद से इस्तीफा दे दिया। जांच मे उनके पाक नागरिक होने, वोटर कार्ड और आधार कार्ड यहीं पर बनने की शिकायतें जांच के दौरान सही पाई गईं। इसके बाद इस पूरे मामले में डीपीआरओ आलोक प्रियदर्शी ने मंगलवार को ग्राम पंचायत सचिव ध्यानपाल को बानो बेगम के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराने का आदेश दिया।
गांव प्रधान शहनाज बेगम की मौत के बाद गांव में विकास कार्य के संचालन के लिए समिति बनाई गई थी। अध्यक्ष पद पर पाकिस्तानी महिला बानो बेगम के नाम पर मुहर सचिव ध्यानपाल सिंह ने लगाई थी। सचिव ध्यानपाल सिंह को भी इस ग्राम पंचायत क्षेत्र से हटा दिया गया है। जिलाधिकारी सुखलाल भारती ने कहा कि पाकिस्तानी मूल की महिला बानो बेगम के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराने के आदेश दे दिए गए हैं। महिला के आधार कार्ड सहित अन्य दस्तावेज कैसे बने, इसकी भी जांच कराई जा रही है। फर्जी दस्तावेज बनवाने में महिला का जिन लोगों ने सहयोग किया, उनके खिलाफ भी जांच रिपोर्ट मिलने के बाद कार्यवाही की जाएगी।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *