पाकिस्तानी पीएम ने कहा, हाफिज सईद के खिलाफ पर्याप्त सबूत हैं तो अंतर्राष्ट्रीय फोरम में जा सकता है भारत

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहिद खाकन अब्बासी ने कहा है कि अगर भारत को लगता है कि उसके पास जमात-उद-दावा (जेयूडी) के चीफ हाफिज सईद के खिलाफ पर्याप्त सबूत हैं तो वो अंतर्राष्ट्रीय फोरम में जा सकता है।
पीएम अब्बासी ने ये बातें एक विदेशी मीडिया को दिए इंटरव्यू में कही हैं। उन्होंने कहा कि जब लाहौर हाई-कोर्ट को सईद के खिलाफ कोई पुख्ता सबूत नहीं मिले तो उन्होंने आदेश दिया कि जेयूडी लीडर को छोड़ दिया जाए और पाक सरकार को उसे छोड़ना पड़ा।
बता दें कि दुनियाभर में हाफिज सईद के खिलाफ भारी विरोध झेल रहे पाकिस्तान ने करीब 10 महीनों तक हाउस अरेस्ट रखा था।
हाफिज सईद मामले में विदेशी मीडिया ने अब्बासी को जमकर घेरा, इस इंटरव्यू में ये भी कहा कि हाफिज की सुनवाई हाई कोर्ट के तीन जजों की बेंच कर रही थी। कोर्ट ने यह कहते हुए उसे रिहा करने का आदेश दिया कि उसके खिलाफ लगाए गए कोई भी आरोप साबित नहीं हुए हैं।
अपने इंटरव्यू में उन्होंने कहा कि भारत ने अभी तक हाफिज के खिलाफ कोई भी सबूत नहीं दिए हैं, अगर उनके पास सचमुच ही कोई सबूत है तो वो अंतर्राष्ट्रीय फोरम में जा सकते हैं।
पाकिस्तानी मीडिया में छपी खबर के मुताबिक भारत ने कहा है कि उसने पाकिस्तान को हाफिज के खिलाफ कई सबूत दिए थे, ब्लूमबर्ग ने इस बाबत भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार से बात करने की मीडिया का कहना है कि उन्होंने इस बाबत कोई कमेंट नहीं किया है।
वहीं पाक के क्रास बॉर्डर टेररिज्म के बढ़ावा दिए जाने पर उन्होंने कहा कि हमने अमेरिका से कहा है कि हक्कानी नेटवर्क के खिलाफ अगर उनके पास कोई सबूत है तो वो दें, हम जरूर उसके खिलाफ एक्शन लेंगे।
पीएम अब्बासी ने कहा कि अगर पाकिस्तान की धरती पर होने वाले आतंक के खिलाफ हमें कोई भी सबूत देता है तो आगे बढ़कर उसके खिलाफ कार्यवाही करेंगे और वो हमारा युद्ध होगा, उनका नहीं। वहीं यह पूछे जाने पर कि पाकिस्तान के क्वेटा में तालिबानी लीडर को कई वर्षों तक शरण दी तो उन्होंने काह कि हम उनके खिलाफ जरूर एक्शन लेंगे।
-एजेंसी