पाकिस्‍तानी अदालत ने बदली Daniel Pearl के हत्‍यारे की सजा, जल्द होगा र‍िहा

कराची। अमेरिकी पत्रकार Daniel Pearl के हत्‍यारे अहमद उमर शेख की मौत की सजा को बदल कर हल्का करने वाली पाकिस्‍तानी अदालत ने खूंखार आतंकी को बड़ी राहत दी है। पाकिस्‍तान के स‍िंध प्रांत की एक अदालत ने The Wall Street Journal के पत्रकार Daniel Pearl के हत्‍यारे की मौत की सजा को बदल द‍िया है। अदालत ने तीन अन्‍य आरोप‍ियों को बरी कर द‍िया है। माना जा रहा है क‍ि जल्‍दी उमर र‍िहा हो सकता है।

पाकिस्तान की एक अदालत ने 2002 के अमेरिकी पत्रकार डेनियल पर्ल की हत्या मामले के मुख्य आरोपी अहमद उमर शेख की मौत की सजा बृहस्पतिवार को सात साल कैद में बदल दी। यही नहीं अदालत ने तीन अन्‍य लोगों को इसी मामले में बरी कर दिया।

दी एक्सप्रेस ट्रिब्यून की खबर के मुताबिक इस मामले के मुख्य आरोपी ब्रिटेन में जन्मे अहमद उमर शेख को आतंकवाद निरोधी अदालत ने जो सजा सुनाई थी, उसे सिंध उच्च न्यायालय ने पलट दिया। डॉन की खबर के मुताबिक तीन अन्य दोषी फहद नसीम, सलमान साकिब और शेख आदिल जिन्हें उम्रकैद की सजा सुनाई गई थी, उन्हें अदालत ने बरी कर दिया है।

पिछले 18 साल से जेल में बंद है उमर
जस्टिस मोहम्‍मद करीम खान आगा के नेतृत्‍व वाली पीठ ने 18 साल पहले दोषी करार दिए गए उमर की याचिका पर यह फैसला सुनाया। अदालत ने अपने फैसले में कहा कि 7 साल जेल की यह सजा तब से मानी जाएगी जब से उमर जेल में बंद है। उमर पिछले 18 साल से जेल में बंद है। अदालत के इस फैसले के बाद माना जा रहा है कि उमर अब जल्‍दी ही जेल से छूट सकता है।

पर्ल ‘द वॉल स्ट्रीट जर्नल’ के दक्षिण एशिया ब्यूरो प्रमुख थे और वर्ष 2002 में पाकिस्तान में आतंकवादियों ने उनका अपहरण कर सिर कलम कर दिया था। पर्ल की हत्‍या के बाद अमरीका के तत्‍कालीन राष्ट्रपति जॉर्ज डब्ल्यू बुश ने कहा था कि ”डेनियल पर्ल की हत्या एक बर्बर कृत्य है और इससे सभी अमरीकी दुखी और क्रुद्ध हैं।’ इससे पहले पहले वर्ष 2014 में भी आतंकवाद निरोधक अदालत ने कारी हशीम को सबूतों के अभाव में बरी कर दिया था। वह हत्‍या में सह आरोपी था। उसी साल उमर ने भी वेटिंलेटर से लटककर जान देने की कोशिश की थी।
– एजेंसी

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *