लगातार तीसरे दिन पाकिस्तानी ने किया संघर्ष विराम का उल्लंघन, बीएसएफ जवान शहीद

श्रीनगर। जम्मू जिले में अंतर्राष्ट्रीय सीमा के पास आज लगातार तीसरे दिन पाकिस्तानी सैनिकों ने संघर्ष विराम का उल्लंघन किया और सीमा पार से हुई गोलाबारी में बीएसएफ का एक जवान शहीद हो गया.
कांस्टेबल बिजेंद्र बहादुर अंतर्राष्ट्रीय सीमा के पास अरनिया सेक्टर में अग्रिम चौकी पर बाड़ के पास तैनात थे. तभी देर रात करीब 12 बजकर 20 मिनट पर पाकिस्तानी सैनिकों ने मोर्टार दागे और गोलीबारी शुरू कर दी.
सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के एक अधिकारी ने बताया कि एक गोली जवान के बाई तरफ, पेट पर लगी और अस्पताल ले जाते हुए उसने दम तोड़ दिया. उन्होंने कहा, बीएसएफ के जवानों ने कड़ी कार्यवाही करते हुए मुहंतोड़ जवाब दिया. अधिकारी ने कहा, आधी रात से सुबह तक दोनों ओर से रुक-रुक कर गोलियां चलती रहीं. कांस्टेबल बहादुर (32 वर्ष) उत्तर प्रदेश के बलिया जिले के विद्या भवन नारायणपुर गांव के निवासी थे. उनके परिवार में उनकी पत्नी सुष्मिता सिंह हैं.
पिछले तीन दिनों से पाकिस्तान की ओर से लगातार संघर्ष विराम का उल्लंघन किया जा रहा है.
कल बीएसएफ की ओर से की कई जवाबी कार्यवाही में दो पाकिस्तानी सैनिक मारे गए थे. बुधवार को अंतर्राष्ट्रीय सीमा के पास और जम्मू तथा पूंछ जिले में नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तानी सैनिकों की और से की गई बिना उकसावे की गोलीबारी तथा गोलाबारी में तीन भारतीय जवान घायल हो गए थे.
भारतीय सेना के आंकड़ों के अनुसार इस साल पाकिस्तानी सैनिकों द्वारा संघर्ष विराम उल्लंघन की घटनाओं में तेजी से वृद्धि हुई है. एक अगस्त तक पाकिस्तान सेना 285 बार संघर्ष विराम उल्लंघन कर चुकी थी, जबकि वर्ष 2016 में पाकिस्तान की ओर से कुल 228 बार संघर्ष विराम उल्लंघन किया गया था.
-एजेंसी