पाकिस्तान: दुर्घटनाग्रस्त विमान के मलबे से तीन करोड़ रुपये बरामद

इस्‍लामाबाद। पाकिस्तान के कराची में पीआईए के दुर्घटनाग्रस्त विमान के मलबे से तीन करोड़ रुपये की नकद राशि बरामद हुई है। इस विमान में 99 लोग सवार थे जिनमें से नौ बच्चे समेत 97 लोगों की मौत हो गई थी। विमान पीके-8303 लाहौर से कराची जा रहा था और इसी दौरान वह कराची इंटरनेशनल एयरपोर्ट के निकट के रिहाइशी इलाके में पिछले सप्ताह क्रैश हो गया। चमत्कारी तरीके से दो यात्री इसमें सुरक्षित बच गए।
तीन करोड़ की नकदी बरामद
एक अधिकारी ने बताया कि विमान के मलबे से जांचकर्ता और बचाव अधिकारियों ने विभिन्न देशों की मुद्राएं बरामद की हैं जिसकी कीमत करीब तीन करोड़ रुपये है। अधिकारी ने बताया कि इस संबंध में जांच के आदेश दिए गए हैं कि इतनी बड़ी मात्रा में नकद राशि हवाईअड्डे की सुरक्षा और सामान जांच तंत्र से कैसे पास हो गयी। उन्होंने कहा कि यह राशि दो थैलों में पड़ी मिली है।
शवों की जांच प्रक्रिया जारी
अधिकारी ने बताया कि शवों और सामान की पहचान की प्रक्रिया चल रही है ताकि इसे उनके परिजन को सौंपा जा सके। इस दुर्घटना में चालक दल के सदस्यों समेत 97 लोगों की मौत हो गई। यह पाकिस्तान के इतिहास में अब तक की बड़ी विमान दुर्घटनाओं में से एक है। बृहस्पतिवार को एक अधिकारी ने बताया कि 47 शवों की पहचान कर ली गई है और अब तक 43 शवों को अंतिम संस्कार के लिए परिवार वालों को सौंप दिया गया है।
क्या पायलट की गलती से हुआ हादसा!
पाकिस्तानी जांचकर्ता इस बात का पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि यह हादसा पायलट की गलती से हुआ या किसी तकनीकी खामी के कारण। एक रिपोर्ट में यह जानकारी सामने आई है पायलट ने उड़ान के दौरान एटीसी की तीन चेतावनियों को अनसुना कर दिया था। रिपोर्ट में कहा गया है कि पायलट ने विमान के उतरने से पहले उसकी गति और ऊंचाई को लेकर हवाई यातायात नियंत्रकों की तीन चेतावनी को यह कहते हुए नजरअंदाज कर दिया था कि वह संतुष्ट है और स्थिति को नियंत्रित कर लेगा।
एटीसी की चेतावनी की थी नजरअंदाज
जियो न्यूज ने एटीसी रिपोर्ट के हवाले से बताया कि लाहौर से कराची आ रहा एयरबस ए-320 जिन्ना अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे से 15 समुद्री मील दूरी पर जमीन से 7,000 फीट की ऊंचाई की बजाय 10,000 फीट की ऊंचाई पर उड़ान भर रहा था जब हवाई यातायात नियंत्रण (एटीसी) ने विमान की ऊंचाई कम करने को लेकर पहली चेतावनी जारी की थी।इसमें बताया कि नीचे आने की बजाय पायलट ने कहा कि वह संतुष्ट हैं।
एटीसी ने दी थी विमान नीचे लाने की चेतावनी
जब हवाईअड्डे से विमान महज 10 समुद्री मील दूर था, तब विमान 3,000 फीट की बजाय 7,000 फीट की ऊंचाई पर था। एटीसी ने विमान की ऊंचाई कम करने के लि‍ए पायलट को दूसरी चेतावनी जारी की। हालांकि, पायलट ने फिर से कहा कि वह संतुष्ट है और स्थिति को संभाल लेगा तथा वह नीचे उतरने के लिए तैयार है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *