पाकिस्तान ने कहा, सीपीईसी का कोई सैन्‍य पहलू नहीं

इस्लामाबाद। पाकिस्तान ने कहा है कि चीन पाकिस्तान आर्थिक गलियारा (सीपीईसी) एक द्विपक्षीय आर्थिक परियोजना है और इसे सैन्य नजरिए से नहीं देखा जाना चाहिए। पाकिस्तान के विदेश कार्यालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल ने यह बात बृहस्पतिवार को साप्ताहिक मीडिया ब्रीफिंग के दौरान अमेरिका की उस रिपोर्ट पर पूछे गए सवाल के जवाब में कही, जिसमें आरोप लगाया गया है कि चीन 60 अरब अमेरिकी डॉलर की इस परियोजना के तहत पाकिस्तान में लड़ाकू विमान और अन्य सैन्य हथियार बनाने की गुप्त योजना पर काम कर रहा है।
न्यू यॉर्क टाइम्स में छपी एक खबर के मुताबिक पाकिस्तानी वायुसेना और चीन के अधिकारी इस गुप्त प्रस्ताव को अंतिम रूप देने के लिये तैयार हैं। हालांकि चीन ने पिछले सप्ताह इस रिपोर्ट को झूठा बताते हुए खारिज कर दिया था। पाकिस्तान के समाचार पत्र डॉन ने फैसल के हवाले से कहा, ‘सीपीईसी ने पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था और खासतौर पर इसके तहत आने वाले ऊर्जा और बुनियादी ढांचे से जुड़े क्षेत्रों में सुधार किया है। सीपीईसी द्विपक्षीय आर्थिक परियोजना है, जो किसी देश के खिलाफ नहीं है।’ पाकिस्तान के बलूचिस्तान प्रांत में ग्वादर बंदरगाह और चीन के शिनजियांग प्रांत को जोड़ने वाला सीपीईसी चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग की महत्वाकांक्षी बेल्ट ऐंड रोड पहल (बीआरआई) की प्रमुख परियोजना है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »