Shaheen-2 का परीक्षण कर पाक ने कहा, भारत के साथ चाहते हैं शांति वार्ता

इस्लामाबाद। पाकिस्तान ने गुरुवार को सतह से सतह पर मार करने वाली बैलिस्टिक मिसाइल Missile Shaheen-2 का सफल परीक्षण किया। यह मिसाइल 1,500 किमी तक मार करने में सक्षम है। भारत के प्रमुख शहर इसके दायरे में आ गए हैं। परीक्षण के बाद पाकिस्तान ने यह संकेत भी दिया कि वह भारत के साथ शांति वार्ता करना चाहता है।

पाकिस्तान की सेना ने एक बयान में कहा, ‘शाहीन-2 मिसाइल 1,500 किलोमीटर तक पारंपरिक और परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम है। यह उच्च क्षमता वाली मिसाइल है जो पाकिस्तान की रणनीतिक जरूरतों को पूरा करती है।’ अरब सागर में किए गए इस परीक्षण का सेना के कई वरिष्ठ अधिकारी, वैज्ञानिक और इंजीनियर गवाह बने।

राष्ट्रपति आरिफ अल्वी और प्रधानमंत्री इमरान खान ने इस उपलब्धि के लिए वैज्ञानिकों को बधाई दी है। पाकिस्तान ने यह मिसाइल परीक्षण ऐसे समय पर किया है जब जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में गत फरवरी में हुए आतंकी हमले को लेकर दोनों देशों के रिश्ते बिगड़े हुए हैं।

इस हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे। हमले की जिम्मेदारी पाकिस्तानी आंतकी संगठन जैश-ए-मुहम्मद ने ली थी। इस हमले के बाद भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान के बालाकोट में जैश-ए-मुहम्मद के ठिकाने पर हवाई हमला किया था।

पाकिस्तानी सेना की मीडिया विंग इंटर सर्विसेज पब्लिक रिलेशंस (आईएसपीआर) ने एक बयान में कहा, “परीक्षण करने का मकसद सेना की रणनीतिक बल कमान की सैन्य तत्परता को सुनिश्चित करना है। शाहीन-2 मिसाइल परंपरागत और आण्विक दोनों प्रकार के हथियारों को 1,500 किलोमीटर की मारक क्षमता में पहुंचाने में सक्षम है।”

यह परीक्षण भारत द्वारा ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल के हवाई वर्जन को दूसरा परीक्षण शुरू करने के एक दिन बाद किया गया है।

उसका कहना है कि शाहीन-2 काफी सक्षम मिसाइल है जिससे क्षेत्र में वांछित निवारण क्षमता को बनाए रखने के लिए पाकिस्तान की रणनीतिक जरूरतें पूरी होती है।

पाकिस्तानी अखबार डॉन ने आईएसपीआर के हवाले से कहा कि लांच पैड का प्रभाव अरब सागर में देखा गया।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »