पाकिस्‍तान ने LoC पर तैनात की F 16 स्‍क्‍वाड्रन

नई दिल्ली। भारत और पाकिस्‍तान के बीच चल रहे तनाव के बीच पाकिस्‍तान ने अब LOC पर F 16 लड़ाकू विमानों का पूरा स्‍क्‍वाड्रन तैनात कर दिया है। बताया जा रहा है कि सियालकोट से लगती सीमा पर एफ 16 की स्‍वाड्रन तैनात की गई है। F 16 लड़ाकू विमान की तैनाती से माना जा रहा है कि दोनों देशों के बीच तनाव और बढ़ सकता है। रक्षा विशेषज्ञ इसे उकसावे वाली कार्रवाई मान रहे हैं।

F 16 लड़ाकू विमान की तैनाती से माना जा रहा है कि दोनों देशों के बीच तनाव और बढ़ सकता है। रक्षा विशेषज्ञ इसे उकसावे वाली कार्रवाई मान रहे हैं। इससे पहले खबर आई थी कि पाकिस्‍तान ने जम्मू से सटी अंतरराष्ट्रीय सीमा पर BAT (Border Action Team) की तैनाती कर दी है। BAT पाकिस्तान की एक कमांडो फोर्स है।

बताया यह भी जा रहा है कि पाकिस्तान ने एक बार फिर अपनी सीमा में भारतीय सीमा से सटे इलाकों में स्नाइपरों को भी तैनात किया है। इससे साफ है कि पाकिस्तान एक बार शांति भंग करने की फिराक में है और यह भी कहा जा रहा है कि इस प्रकार से पाकिस्तान सीमा पर तैनात सुरक्षा कर्मियों को निशाना बनाकर हमला करेगा। इसी के साथ भारत की ओर से सीमा पर तैनात सुरक्षाकर्मियों को सतर्क रहने के आदेश दे दिए गए हैं। पूरे सीमाई इलाके को हाई अलर्ट पर रखा गया है।

बता दें कि पुलवामा में आतंकी हमले में 40 जवानों शहीद होने के बाद भारत और पाकिस्‍तान के संबंध सबसे बुरे दौर में पहुंच गए थे। भारत ने बालाकोट में आतंकियों के खिलाफ एयर स्‍ट्राइक कर इसका जवाब दिया था, लेकिन उसके अगले ही दिन पाकिस्‍तान के एफ 16 लड़ाकू विमानों ने भारतीय सीमा में घुसने की कोशिश की थी। उन्‍हें खदेड़ने की कोशिश में एक भारतीय पायलट पाकिस्‍तान की सीमा में पहुंच गया था और पाकिस्‍तान ने उन्‍हें बंदी बना लिया था हालांकि अंतरराष्‍ट्रीय दबाव के बीच 36 घंटे के भीतर ही पायलट को रिहा करना पड़ा था।

इसके अलावा भारत ने पाकिस्‍तानी कलाकारों को बैन कर दिया है। सिंधु नदी से पाकिस्‍तान को जाने वाला पानी रोकने की घोषणा की है। पाकिस्‍तान को दिया गया मोस्‍ट फेवर्ड नेशन का दर्जा वापस ले लिया गया है। साथ ही पाकिस्‍तान से आने वाले माल पर 200 फीसद आयात शुल्‍क बढ़ा दिया गया है। अब पाकिस्‍तान की इस उकसावे वाली कार्रवाई से दोनों देशों के संबंधों में नरमी के बजाय और तल्‍खी आएगी।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »