पाकिस्तान आर्मी का एक कर्नल नेपाल से लापता, RAW पर शक

Pakistan Army colonel is missing from in Nepal, RAW suspect
पाकिस्तान आर्मी का एक कर्नल नेपाल से लापता, RAW पर शक

पाकिस्तान आर्मी का एक कर्नल कुछ दिनों पहले नेपाल के लुम्बिनी शहर से लापता हो गया। उसके परिवार ने कहा है कि 6 अप्रैल को रिटायर्ड कर्नल मोहम्मद हसीब नेपाल पहुंचे थे लेकिन उसके बाद से उनसे कॉन्टैक्ट नहीं हो पा रहा है। दूसरी ओर, पाकिस्तान के एक अखबार ने इस मामले में भारतीय खुफिया एजेंसी रिसर्च एंड एनालिसिस विंग यानी RAW पर शक जताया है।
हसीब के नेपाल में लापता होने की खबर पाकिस्तान के अखबार ‘द डॉन’ ने दी है।
अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक, रिटायर्ड कर्नल मोहम्मद हसीब एक जॉब इंटरव्यू के सिलसिले में नेपाल गए थे। 6 अप्रैल को वो इंडियन बॉडर्र से लगने वाले लुम्बिनी शहर गए। यहां वो बौद्ध धर्म से जुड़ी चीजें देखना चाहते थे।
पिछले गुरुवार के बाद से हसीब की फैमिली उनसे कॉन्टैक्ट की कोशिश कर रही है लेकिन कामयाबी नहीं मिली। उनका फोन भी अनरीचेबल आ रहा है।
नेपाल में पाकिस्तानी एम्बेसी के एक अफसर के मुताबिक, हसीब की गुमशुदगी के बारे में नेपाल की फॉरेन मिनिस्ट्री को इन्फॉर्म किया गया है।
हसीब 2014 में रिटायर हुए। इसके बाद एक पाकिस्तानी फर्म से जुड़ गए। नेपाल में वो एक कंपनी में जॉब के लिए इंटरव्यू देने गए थे।
हसीब पाकिस्तानी आर्मी के आर्टिलरी डिवीजन में भी रहे थे। माना जा रहा है कि उन्हें पाकिस्तानी सेना के बारे में बेहद अहम जानकारियां थीं।
मेल पर आया था जॉब ऑफर
अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक मार्क थॉम्पसन नाम के किसी शख्स ने हसीब से मेल और फोन पर इंटरव्यू के बारे में बातचीत की थी। इतना ही नहीं, हसीब को जॉब के लिए एयर टिकट भी भेजे गए थे। हसीब पिछले बुधवार को नेपाल रवाना हुए थे। काठमांडू से वो लुम्बिनी पहुंचे थे।
नेपाल में जावेद अंसारी नाम के शख्स ने हसीब को नेपाल का एक सिमकार्ड भी मुहैया कराया था। इसी शख्स ने हसीब को रिसीव भी किया था।
RAW पर शक
रिपोर्ट के मुताबिक हसीब को जिस नंबर से कॉल की गईं, वो एक कम्प्यूटर जेनरेटेड नंबर था। इसके अलावा जिस वेबसाइट के जरिए उन्हें जॉब ऑफर किया गया वो हकीकत में भारत में रजिस्टर्ड है।
पाकिस्तानी मीडिया शक जता रहा है कि हसीब के लापता होने के पीछे RAW का हाथ है। उन्हें किडनैप किया गया है।
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, नेपाल में भारतीय खुफिया एजेंसी RAW का तगड़ा दखल है और नेपाल-भारत के बीच रिलेशन भी बहुत बेहतर हैं।
रिपोर्ट में कहा गया है कि नेपाल के आर्मी अफसरों और सैनिकों को भारत ही ट्रेनिंग देता है। इसके अलावा हथियार भी भारत से ही आते हैं।
रिपोर्ट में साफ तो नहीं कहा गया लेकिन इस बात का जिक्र किया गया है कि भारत का एक जासूस कुलभूषण जाधव पिछले साल पाकिस्तान में गिरफ्तार किया गया था और माना जा रहा है कि भारत ने यह एक्शन बदले के तहत लिया हो।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *