पाक के रेल मंत्री ने कहा: भारत अब धर्मनिरपेक्ष नहीं ‘श्रीराम के हिंदुत्‍व’ का देश बना

इस्‍लामाबाद। अयोध्‍या में राम मंदिर भूमिपूजन पर पाकिस्‍तान को तीखी मिर्ची लगी है। पाकिस्‍तान के बड़बोले रेल मंत्री शेख राशिद ने कहा है कि भारत अब धर्मनिरपेक्ष देश नहीं रहा बल्कि राम नगर में तब्‍दील हो गया है। राशिद ने कहा कि पुराने समय के धर्मनिरपेक्ष देश अब दुन‍ियाभर में खत्‍म हो गए हैं और भारत अब ‘श्रीराम के हिंदुत्‍व’ का देश बन गया है।
राशिद ने कहा कि पाकिस्‍तान अयोध्‍या में राम मंदिर के निर्माण की पाकिस्‍तान कड़ी निंदा करता है। उन्‍होंने कहा कि भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 30 साल पहले अयोध्‍या यात्रा के दौरान अपना इरादा जता दिया था। राशिद ने कहा कि मोदी ने जानबूझकर राम मंदिर भूमिपूजन के लिए ऐसा दिन चुना है जब कश्‍मीर में आर्टिकल 370 को खत्‍म करने के एक साल पूरे हो रहे थे।
मोदी के नाम लेते ही रशीद को लगा था बिजली का झटका
पाकिस्‍तानी रेल मंत्री ने कहा, ‘प्रत्‍येक हिंदू नेता ने बाबरी मस्जिद के मुद्दे पर राजनीति की है।’ बता दें कि यह वही शेख रशीद हैं कि जो पिछले साल पीएम मोदी की आलोचना करते समय बिजली के जोरदार झटके का शिकार हो गए थे। बिजली झटका लगते ही शेख रशीद डर गए थे और उन्‍होंने बीच में ही अपना भाषण रोक दिया था। बाद में उन्‍होंने स्थिति को संभालते हुए कहा कि नरेंद्र मोदी उनके जलसे को नाकाम नहीं कर सकते हैं।
रशीद ने कहा कि नरेंद्र मोदी ने कश्‍मीर में अपनी सबसे बड़ी गलती की। भारत ने दो बड़ी गलती की है। पहला 5 परमाणु धमाके किए और हमने उसके जवाब में 6 धमाके कर दिए। कश्‍मीर में भारत ने दूसरी सबसे बड़ी गलती की है। रशीद भाषण दे रहे थे कि उसी समय उनको करंट लग गया। करंट लगने से डर गए लेकिन बाद में किसी तरह खुद को संभाला। उन्‍होंने कहा, ‘बहुत तगड़ा करंट लगा।’
रशीद ने दी थी पाव भर के परमाणु बम से हमले की धमकी
पिछले साल जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के बाद बाद इन्होंने भारत को गीदड़भभकी देते हुए कहा था कि पाकिस्तान के पास पाव-पाव भर के परमाणु बम हैं जिससे वह भारत पर हमला कर सकता है। पाकिस्तान के रेल मंत्री ने एक सवाल के जवाब में कहा, ‘126 दिन धरने में शामिल था, उस वक्त मुल्क के हालात और सरहदी मामलात ऐसे नहीं थे। यह सीरियस थ्रेट है, इस मुल्क को और ये जंग खौफनाक हो सकती है। ये कन्वेंशनल आर्म नहीं होगी। जो अक्ल के अंधे ये समझ रहे हैं कि 4-6 दिन टैंक, तोपें चलेंगी या हवाई जहाज, एयर अटैक होंगे या नेवी के गोले चलेंगे… नो वे। दिस विल बी ऐटॉमिक वॉर। दिस विल बी अ क्लियर कट ऐटॉमिक वॉर। और जिस तरह की जरूरत होगी उस तरह का असलहा इस्तेमाल करेंगे।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *