पहलू खान मामला: प्रियंका ने कोर्ट पर तो मायावती ने उठाया कांग्रेस पर सवाल

लखनऊ। राजस्थान के अलवर में पहलू खान की हत्या के मामले में अलवर जिला न्यायालय ने बुधवार को सभी 6 आरोपियों को बरी कर दिया। कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी और बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने कोर्ट के इस फैसले पर सवाल उठाए हैं। दोनों ने इस मामले में शुक्रवार को ट्वीट करके लोअर कोर्ट के फैसले को चौंकाने वाला बताया है।
प्रियंका ने शुक्रवार सुबह दो ट्वीट किए। पहले ट्वीट में उन्होंने मॉब लिंचिंग को जघन्य अपराध बताया और कोर्ट के फैसले पर हैरानी जताई।
प्रियंका ने लिखा, ‘पहलू खान मामले में लोअर कोर्ट का फैसला चौंका देने वाला है। हमारे देश में अमानवीयता की कोई जगह नहीं होनी चाहिए और भीड़ द्वारा हत्या एक जघन्य अपराध है।’
‘राजस्थान सरकार दिलाएगी न्याय’
प्रियंका ने दूसरे ट्वीट में राजस्थान सरकार की मॉब लिंचिंग के मामले में बनाए गए कानून की प्रशंसा की। इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि उम्मीद है कि राजस्थान सरकार पहलू खान को न्याय दिलाएगी।
प्रियंका ने लिखा, ‘राजस्थान सरकार द्वारा भीड़ में पीट-पीटकर हत्या किए जाने के खिलाफ कानून बनाने की पहल सराहनीय है। आशा है कि पहलू खान मामले में न्याय दिलाकर इसका अच्छा उदाहरण पेश किया जाएगा।’
मायावती ने कांग्रेस को बनाया निशाना
वहीं दूसरी ओर मायावती ने इस मामले में कांग्रेस पर निशाना साधते हुए ट्वीट किया, ‘राजस्थान कांग्रेस सरकार की घोर लापरवाही व निष्क्रियता के कारण बहुचर्चित पहलू खान माब लिंचिंग मामले में सभी 6 आरोपी वहां की निचली अदालत से बरी हो गए, यह अतिदुर्भाग्यपूर्ण है। पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने के मामले में वहां की सरकार अगर सतर्क रहती तो क्या यह संभव था, शायद कभी नहीं।’
गोतस्करी के आरोप में हुई थी पहलू की हत्या
आपको बता दें कि गो तस्करी के शक में 1 अप्रैल 2017 को कथित गोरक्षकों की भीड़ द्वारा पहलू खान की जमकर पिटाई की गई थी। डेयरी बिजनेस करने वाले पहलू की 2 दिन बाद ही मौत हो गई थी। जिस वक्त पहलू खान पर हमला हुआ था, उस समय वह राजस्थान में गाय खरीदने के बाद हरियाणा जा रहे थे। यह मामला देशभर की मीडिया में सुर्खियां बना था। काफी समय तक यह मामला सियासी गलियारों में भी उछला। पहलू खान की हत्या की वारदात में 9 आरोपी पकड़े गए थे, जिनमें तीन नाबालिग हैं। अन्य छह आरोपियों को कोर्ट ने बुधवार को बरी कर दिया।
फैसले को चैलेंज करेगी सरकार
राजस्थान अडिशनल चीफ सेक्रटरी (होम) राजीव स्वरूप ने कहा कि राज्य की अशोक गहलोत सरकार ने फैसले के खिलाफ अपील करने के बारे में निर्णय लिया है। लोअर कोर्ट के फैसले को अब वे लोग हाई कोर्ट में चैलेंज करेंगे।
‘मेरे पिता को किसने मारा?’
कोर्ट के फैसले के बाद पहलू खान के बेटे ने सवाल उठाया कि उसके पिता को किसने मारा? पहलू के बेटे इरशाद ने कहा कि वह आज भी यह सोचकर कांप जाता है कि किस तरह सौ लोगों ने पीट-पीटकर उसके पिता की हत्या कर दी थी। उसने कहा, ‘मुझे पूरी उम्मीद थी कि आरोपियों को आजीवन कारावास न सही कम से कम 20 साल की कैद मिलेगी। लेकिन इस फैसले ने तो हम लोगों के हैरान कर दिया। पुलिस सबूत क्यों नहीं जुटा सकी? क्या मेरे पिता खुद से मरे? क्या मेरे पिता ने आत्महत्या की? कम से कम अब इतना तो बता दें कि मेरे पिता को मारा किसने?’
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *