गुजरात में भी भंसाली की पद्मावती बैन

अहमदाबाद। गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने कहा है कि संजय लीला भंसाली निर्देशित फिल्म पद्मावती गुजरात में रिलीज नहीं की जाएगी। फिल्म रिलीज से पहले ही चौतरफा विवादों में है। फिल्म के विषय को लेकर राजपूत समुदाय ने आपत्ति दर्ज कराई है। खासकर राजस्थान में करणी सेना की तरफ से लगातार विरोध प्रदर्शन हो रहा है।
एक टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में विजय रुपाणी ने कहा कि यह कानून-व्यवस्था से जुड़ा मामला है और वर्तमान हालात में फिल्म को गुजरात में रिलीज नहीं किया जाएगा।
बताते चलें कि गुजरात में अगले महीने ही विधानसभा के लिए मतदान होना है। राज्य के वरिष्ठ कांग्रेस नेता शक्ति सिंह गोहिल भी फिल्म का विरोध कर चुके हैं।
कानून-व्यवस्था को बताया खतरा
सीएम रुपाणी ने साक्षात्कार के दौरान कहा कि फिल्म से विवादित दृश्य हटाए जाने चाहिए। इसके रिलीज होने से कानून-व्यवस्था बिगड़ सकती है। राजपूत समाज से जुड़े संगठनों का आरोप है कि पद्मावती फिल्म में ऐतिहासिक तथ्यों को तोड़-मरोड़कर दिखााया गया है। फिल्म में पद्मावती का किरदार चित्तौड़गढ़ की रानी पद्मिनी से प्रेरित बताया जाता है।
पिछले महीने करणी सेना ने सूरत के एक मॉल में ‘पद्मावती’ फिल्म से प्रेरित एक रंगोली को कथित तौर पर नष्ट कर दिया था। इस मामले में करणी सेना के चार और विश्व हिंदू परिषद के एक कार्यकर्ता को गिरफ्तार किया गया था। इस रंगोली को फिल्म के लिए एक आर्टिस्ट ने 48 घंटे की मेहनत के बाद तैयार की थी।
फिल्म पद्मावती पहले 1 दिसंबर को रिलीज होनी थी, जिसे फिलहाल निर्माता ने टाल दिया है। संजय लीला भंसाली ने दर्शकों से अपील की है कि वे पहले फिल्म देख लें, उसके बाद ही निर्णय लें कि उसमें कुछ गलत है या नहीं। राजस्थान में राजपूत समाज के संगठन करणी सेना ने फिल्म के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है। करणी सेना के अध्यक्ष लोकेंद्र सिंह कालवी ने फिल्म की स्टारकास्ट और डायरेक्टर संजय लीला भंसाली को चेतावनी भी दी थी।
कई राज्यों में पहले ही बैन
इससे पहले यूपी, एमपी, पंजाब और राजस्थान में भी फिल्म को हरी झंडी नहीं मिली है। यूपी सरकार ने केंद्रीय सूचना प्रसारण सचिव को लिखे खत में फिल्म को शांति के लिए खतरा बताया था। डेप्युटी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने सार्वजनिक तौर पर कहा था कि जब तक फिल्म की स्क्रिप्ट में बदलाव नहीं होता है, इसे यूपी में रिलीज नहीं होने दिया जाएगा।
इसके अलावा राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने भी कहा है कि जब तक ‘पद्मावती’ फिल्म में आवश्यक बदलाव नहीं किए जाएंगे, इस मूवी को राजस्थान में रिलीज करने की सरकार अनुमति नहीं देगी। सीएम ने कहा कि संबंधित बदलाव को लेकर केंद्र सरकार को बता दिया गया है। सरकार चाहती है कि ‘पद्मावती’ रिलीज होने की वजह से किसी समुदाय की भावनाओं को ठेस नहीं पहुंचनी चाहिए।
मध्य प्रदेश में भी फिल्म के रिलीज होने पर बैन है। राजपूत समाज के प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मुलाकात कर अपना विरोध दर्ज कराया था। इस पर चौहान ने उन्हें भरोसा दिलाया कि भले ही सेंसर बोर्ड फिल्म रिलीज कर दे लेकिन राज्य में वह प्रदर्शित नहीं होगी।
-एजेंसी