पद्मश्री मोहम्मद शरीफ का इलाज शुरू, जल्‍द ही पेंशन और आवास भी मिलेगा

अयोध्‍या। लावारिस लाशों के मसीहा कहे जाने वाले पद्मश्री मोहम्मद शरीफ की सुध ली गई है। उनका इलाज शुरू हो गया है। शरीफ की गंभीर बीमारी की जानकारी पीएम कार्यालय को भी दी गई है। भाजपा के मीडिया प्रभारी डॉ रजनीश सिंह के मुताबिक प्रधानमंत्री कार्यालय ने आश्वासन दिया है कि जल्द ही मोहम्मद शरीफ को पेंशन व आवास उपलब्ध करवाया जाएगा।
करीब 7 महीने से बीमारी के कारण लाचार पड़े मो. शरीफ को हार्ट की समस्या है। अयोध्या जिला अस्पताल के डॉक्टरों ने उन्हें लखनऊ केजीएमयू के लिए रेफर कर दिया है। अब स्थानीय सांसद लल्लू सिंह व जिला प्रशासन की मदद से उन्हें केजीएमयू ले जाया जाएगा। सांसद सिंह ने उनके घर जाकर हाल चाल लिया और इलाज करवाने का आश्वासन दिया है।
शरीफ चचा के नाम से मशहूर इस समाजसेवी की तबियत 7 माह से खराब चल रही है। आर्थिक तंगी की वजह से सही इलाज नहीं हो पा रहा है। 5 दिन पहले पद्मश्री मोहम्मद शरीफ की तबियत ज्यादा खराब हो गई।
बेटे की मौत के बाद बदला जीवन का लक्ष्य
मो. शरीफ 30 सालों से लावारिश लाशों का संस्कार अपने बलबूते पर करते आ रहे हैं। मोहमद शरीफ के बड़े बेटे मोहम्मद रईस की मौत एक हादसे में 28 वर्ष पहले हुई थी। उनका अंतिम संस्कार पुलिस ने लावारिस जान कर किया था, तब से वह हर लावारिस लाशों का वारिस का फर्ज निभा रहे हैं। बिना किसी धर्म व संप्रदाय के भेदभाव के वह अंतिम संस्कार भी वे उसके धर्म के मुताबिक ही करते हैं। मगर बीमारी के चलते अब वे अपनी इस सामाजिक दायित्व को नहीं निभा पा रहे हैं।
पद्मश्री के लिए नामित
शरीफ के सामाजिक जीवन को देखते हुए केंद्र की मोदी सरकार ने उन्हें पद्मश्री एवार्ड के लिए चयनित कर उनके नाम की घोषणा की थी। वर्ष 2020 में कोरोना काल की वजह से इनको पद्मश्री का मेडल नहीं मिल सका। पुश्तैनी साइकिल मिस्त्री का पेशा ही जीविका है। इस वजह से आर्थिक तंगी के दौर से गुजर रहे हैं।
सरकार से मदद का इंतजार
शरीफ चचा के अन्य दो बेटे मोहम्मद सगीर और मोहम्मद अशरफ इनका इलाज करवा रहे हैं। दोनो बेटों में से मोहम्मद अशरफ बाइक मकैनिक हैं और दूसरा बेटा मोहम्मद सगीर प्राइवेट ड्राइवर हैं। शरीफ कहते हैं कि सरकार से कोई मदद नहीं मिली। छोटे से किराए के घर में परिवार के 20 सदस्य रहते हैं।
सांसद लल्लू सिंह से बंधी उम्मीद
जिला अस्पताल के डॉक्टर वीरेंद्र वर्मा का कहना है कि पद्मश्री मो शरीफ के पेट मे सूजन व हार्ट की समस्या है। जांच के लिए लखनऊ केजीएमसी रेफर किया गया है। वहीं शरीफ के बेटे मोहम्मद अशरफ का कहना है कि उन्हें उम्मीद है कि सांसद लल्लू सिंह की मदद से उनके वालिद का बेहतर इलाज हो सकेगा।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *