ईसाई धर्मगुरू के निधन पर PM मोदी और राहुल गांधी ने शोक जताया

नई दिल्‍ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने केरल में ईसाई धर्म के ऑर्थोडॉक्स समुदाय के प्रभावी पादरी के निधन पर शोक जाहिर किया है।
‘मलंकारा ऑर्थोडॉक्स सीरियन चर्च ऑफ इंडिया’ के सर्वोच्च प्रमुख बेसेलियस मारथोमा पॉलोस द्वितीय का रविवार देर रात निधन हो गया। पादरी 74 वर्ष के थे।
दिवंगत पादरी को याद करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने लिखा, ‘उन्होंने अपने पीछे सेवा और करुणा की समृद्ध विरासत छोड़ी है। इस दुख की घड़ी में मेरी संवेदनाएं ऑर्थोडॉक्स चर्च के सदस्यों के साथ हैं। उनकी आत्मा को शाश्वत शांति मिले।’
पादरी का कोविड-19 के बाद हुई जटिलताओं के कारण पतनमतिट्टा जिले के पारूमाला में एक निजी अस्पताल में उपचार चल रहा था। रविवार देर रात करीब 2:35 बजे उनका निधन हो गया।
वायनाड से सांसद राहुल गांधी ने लिखा, ‘धार्मिक गुरू होने के साथ ही बेसेलियस मारथोमा पॉलोस को बेघरों के लिए मानवतावादी कार्यों के लिए याद किया जाएगा।’ इसके साथ ही लोकसभा स्पीकर ओम बिरला, केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान, कांग्रेस नेता शशि थरूर ने भी शोक जाहिर किया। पादरी, दिसंबर 2019 से फेफड़ों के कैंसर से भी पीड़ित थे और इस वर्ष फरवरी में कोरोना वायरस संक्रमण से उबरे थे।
बेसेलियस मारथोमा पॉलोस द्वितीय मलंकारा (पूर्व) के गिरजाघरों के आठवें प्रमुख (कैथोलिकोस) थे। मलंकरा ऑर्थोडॉक्स सीरियन चर्च (MOSC) को मलंकरा चर्च और भारतीय रूढ़िवादी चर्च के रूप में भी जाना जाता है। यह एशिया में सबसे पुराने ईसाई समुदायों के चर्चों में से से एक है। चर्च, भारत की सेंट थॉमस क्रिश्चियन आबादी का कार्य करता है, जिसे नसरानी के रूप में भी जाना जाता है।
चर्च की उत्पत्ति पहली सदी में थॉमस द अपोस्टल के मिशनों में हुई थी। मलंकरा ऑर्थोडॉक्स सीरियन चर्च की मान्यता है। मलंकरा ऑर्थोडॉक्स सीरियाई चर्च ने 1912 में पूर्ण ऑटोसेफली हासिल किया। जिसका मतलब है कि चर्च का एक प्रमुख होगा, जिसका खुद का स्वामित्व होगा। किसी दूसरे का प्रभुत्व नहीं रहेगा। यह वर्ल्ड काउंसिल ऑफ चर्च (WCC) का सदस्य है।
दरअसल, केरल में ऑर्थोडॉक्स और जैकोबाइट्स समुदायों का प्रभाव है। ईसाई धर्म की पुरानी परंपराओं पर विश्वास करने वाले लोगों को ऑर्थोडॉक्स कहा जाता है। ये समुदाय रोमन कैथोलिक चर्च की पुरानी मान्यताओं पर विश्वास करता है। वहीं जैकबाइट्स समूह में प्रोग्रेसिव ईसाई माना जाता है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *