Oxy cabs ने दी सुविधा, पैसेंजर से मिला पूरा किराया अब ड्राइवर के हाथ

नई दिल्‍ली। Oxy cabs के बाजार में आने की वजह से कार रेंटल सर्विस का परिदृश्य काफी हद तक बदल गया है। अब ड्राइवर अपनी पूरी हिस्सेदारी के बारे में सोच सकते हैं, और पैसेंजर से प्राप्त 100 प्रतिशत किराया अपनी जेब में रख सकते हैं। ऐसी सुविधा अन्य कैब सेवाओं में नहीं है, और वे कंपनियां ड्राइवर जो कमाता है, उस कमाई का 30-35 प्रतिशत ले लेती हैं।

उदाहरण के लिए, अगर कोई ड्राइवर 100 रुपये की कमाई करता है तो अब यह 100 रुपये की पूरी राशि ड्राइवर की जेब में जाती है। ड्राइवर से कोई कमीशन नहीं लिया जाएगा, और निश्चित रूप से, ड्राइवर के लिए कोई लक्ष्य निर्धारित नहीं होगा जिसे उसे पूरा करना हो। ऑक्सी कैब्स केवल एप्लि केशन के लिए 1000 रुपये मासिक फीस लेगा। तो इस तरह से मोबाइल टेक्नोेलॉजी और वेब प्लेटफॉर्म पर आधारित स्टार्ट-अप ऑक्सी कैब की शुरुआत हुई है, जहां हर राइड के साथ भरोसा और रिश्ता मजबूत होता है। डिजिटल इंडिया में योगदान देने और भारतीय अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाने की सोच को लेकर राहुल पाटनी और अनूप जांगिड द्वारा स्थापित, ऑक्सी कैब्स भारतीय कैब सेवा प्रदाता है, जो ग्राहकों को कुछ ही क्लिक्स में अपनी सवारी बुक करने में सक्षम बनाता है।

Oxy cabs में उपलब्ध सुविधाओं के बारे में बताते हुए, ऑक्सी कैब्स के को-फाउंडर, श्री राहुल पाटनी ने कहा, “ऑक्सी कैब की रोमांचक विशेषताओं के जरिये, हम यात्रियों की सुविधाओं का ध्यान रखते हैं। महिला सशक्तिकरण की दिशा में बड़ी पहल करते हुए और कैब में महिला ड्राइवरों को बढ़ावा देते हुए, हमारा उद्देश्य अकेले यात्रा करने वाली महिला के लिए सुरक्षित सवारी उपलब्ध कराना है। ऑक्सी कैब बिना किसी से छिपे शुल्क के राइड के दौरान ग्राहकों को मुफ्त पानी की बोतल उपलब्ध करवाता है, जो भारत में पहली बार है। इसके अलावा, ऑक्सी कैब द्वारा किसी भी अलग शुल्क के बिना, हर कैब में राइड के दौरान किसी भी दुर्घटना की स्थिति में चिकित्सा विभाग द्वारा अनुशंसित जेनेरिक दवाएं मौजूद रहेंगी।”
ऑक्सी कैब ड्राइवरों को आर्थिक रूप से सशक्त बनाने के लिए, ऑक्सी कैब्स के को-फाउंडर, श्री अनूप जांगिड़ ने बताया कि “ऑक्सी कैब्स का मिशन न केवल ड्राइवरों को रोजगार प्रदान कर रहा है, बल्कि उन्हें आत्मनिर्भर और स्वतंत्र भी बना रहा है, और हम पुरुष और महिला दोनों ड्राइवरों को प्रोत्साहित करते हैं। बाजार में उनकी राह आसान बनाने के लिए उनको उचित ड्राइविंग कौशल प्रदान करते हैं। ऑक्सी परिवार का हिस्सा बनने और ग्राहकों की सेवा करने की इच्छा रखने वाले ड्राइवरों के लिए मान्यता प्राप्त बैंकों और अन्य वित्तीय संस्थानों द्वारा ऋण सुविधा भी उपलब्धक है। हम उत्तर प्रदेश राज्या में, और जयपुर, दिल्ली, जोधपुर, कोटा और उदयपुर जैसे शहरों में ऑक्सी कैब्स का विस्तार करने जा रहे हैं।”
ऑक्सी कैब्स की अपनी 100 प्रतिशत इक्विटी केवल भारत में है, जो भारतीय अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाने के लिए विशेष पहल है। ऑक्सी कैब्स सेवा प्रदाता होने का मतलब है कि आप जो भी भुगतान कर रहे हैं वह भारत के बाहर नहीं जा रहा है और सीधे भारतीय अर्थव्यवस्था को मजबूत करता है।

-PR News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *