घुसपैठियों को देश से बाहर कर शरणार्थियों की रक्षा करेगी हमारी सरकार: योगी

गया। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज बिहार के गया में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के समर्थन में जनसभा की।
इस दौरान उन्होंने कहा कि हमारी सरकार घुसपैठियों को देश से बाहर निकालेगी और शरणार्थियों की रक्षा करेगी।
उन्होंने यह भी कहा कि जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद-370 खत्म होने के बाद अब पाकिस्तान को पीओके (पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर) बचाने की चिंता है।
‘भारत के विभाजन के लिए कांग्रेस जिम्मेदार’
योगी ने कहा, ‘1947 में हुए भारत के विभाजन के लिए कांग्रेस जिम्मेदार है। देश में मुस्लिम आबादी 7 से 8 गुना बढ़ी है। इस पर किसी को आपत्ति नहीं है। उन्हें सारी सुविधाएं दी गईं। पाकिस्तान के अंदर हिंदुओं की आबादी 1 प्रतिशत हो गई है। हिंदुओं का धर्म बदला गया या फिर उन्हें मार दिया गया।’
‘बढ़ गई है पाकिस्तान की चिंता’
योगी ने कहा कि हमारी सरकार ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हमेशा के लिए खत्म कर दिया। अब पाकिस्तान को इस बात के लाले पड़ गए हैं कि पाक अधिकृत कश्मीर भारत के अंदर चला जाएगा। अब वो इस बात की चिंता करते हैं कि फिर से पाकिस्तान का विभाजन न हो जाए। उन्होंने कहा कि मुंबई में आतंकी हमले के बाद देश में बदले की मांग उठी थी। तब कांग्रेस और राजद के लोग कहते थे कि पाकिस्तान के पास एटम बम है। वह एटम बम से वार कर सकता है।
‘अब पाक की भाषा बदल गई’
नरेंद्र मोदी की सरकार ने बालाकोट में हमला करने का साहस दिखाया। इसके चलते पाकिस्तान की भाषा बदल गई है। कांग्रेस पर निशाना साधते हुए योगी ने कहा कि जिस पार्टी ने देश में इमरजेंसी लगाई थी वह आज संविधान की दुहाई दे रही है। कांग्रेस देश के संविधान का अपमान कर रही है। देश के खिलाफ जो गद्दारी कर रहे हैं वह पाप कर रहे हैं।
‘मुट्ठीभर लोग कर रहे सीएए का विरोध’
योगी आदित्यनाथ ने गया के गांधी मैदान में आयोजित रैली में कहा कि सीएए किसी जाति या धर्म का विरोधी नहीं है। सीएए नागरिकता देने का कानून है, नागरिकता लेने का नहीं। नागरिकता कानून का एनआरसी से कोई संबंध नहीं है। कुछ मुट्ठीभर लोग इसका विरोध कर रहे हैं। विपक्ष भ्रामक तथ्यों का प्रचार कर देश को गुमराह करने की कोशिश कर रहा है। विपक्ष लोगों को गुमराह कर माहौल खराब कर रहा है। ये ताकतें भारत की प्रगति नहीं देख पा रही हैं। ऐसी ताकतों का पर्दाफाश करना है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *