राजकीय महाविद्यालय मांट में हुआ Orientation program

राजकीय महाविद्यालय मांट (मथुरा)  में नवागन्तुक छात्र-छात्राओं के लिए Orientation program का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम का उद्घाटन प्राचार्या डा. मीनाक्षी वाजपेयी तथा वरिष्ठ प्राध्यापकों ने मां सरस्वती की प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्ज्वलित करके किया ।

डा. मीनाक्षी वाजपेयी ने Orientation program (अभिविन्यास कार्यक्रम) का संक्षिप्त परिचय देते हुये उसके महत्व पर चर्चा की तथा महाविद्यालय में शिक्षण एवं शिक्षणेत्तर गतिविधियों के सुचारू संचालन के लिए छात्र-छात्राओं की नियमित उपस्थित पर बल दिया । उन्होंने विद्यार्थियों के सर्वांगीण विकास उनकी रचनात्मकता एवं उनकी प्रश्नाकुलता को सर्वाधिक महत्वपूर्ण बताया। उन्होंने कहा कि महाविद्यालय के सभी बच्चे उच्च शिक्षा में पारंगत होकर देश के विकास में सहयोग प्रदान करें ।

डा. सुरेन्द्र सिंह ने विज्ञान संकाय का संक्षिप्त परिचय देते हुये कहा कि प्राध्यापक अध्यापन के अतिरिक्त अन्य उत्तरदायित्व के बावजूद शिक्षण कार्य के लिये सदैव तत्पर रहते हैं, किन्तु कक्षाओं के कुशल संचालन के लिये विद्यार्थियों की नियमित उपस्थिति अनिवार्य है । डा. जीत सिंह ने कहा कि शिक्षण संस्था केवल मेधावी विद्यार्थियों को पढ़ाने के लिये नहीं होते, यहां पढ़ाई में कमजोर विद्यार्थी भी समान रूप से महत्वपूर्ण होते है ।

डा. अरूण कुमार ने बच्चों को सम्बोधित करते हुये यहां पढ़ने वाले सभी बच्चे बहुत की सौभाग्यशाली हैं । डा. राजेश ने कहा कि विद्यार्थियों को पाठ्यक्रम और पाठ्यसहगामी क्रियाकलापों में संतुलन बना कर रखना चाहिये क्यों पहला जीविकोपार्जन के लिये आवश्यक है तो दूसरा संतुलित व्यक्तित्व विकास के लिये अनिवार्य है । डा. सत्येन्द्र ने शिक्षाशास्त्र का परिचय देते हुये बताया कि इस विषय को पढ़ने वाले बच्चों को बी.एड. व बीटीसी में विशेष लाभ मिलता है क्योकि इनका पाठ्यक्रम समान है । डा. नेत्रपाल, डा. विक्रांत, डा. दीनदयाल, डा. नीलम कुरील, डा. प्रिया मित्तल, डा. मुक्ता, सहित सभी प्राध्यापकों ने कक्षा में विद्यार्थियों की नियमित उपस्थिति पर बल दिया । कार्यक्रम में महाविद्यालय की छात्राओं ने अपने मधुर स्वर में मां सरस्वती की वन्दना प्रस्तुत की ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »