Road Safety पर ‘एक करोड़ हाथ साथ-साथ’ कैंपेन का आयोजन

इंडिया गेट पर Road Safety के लिए जुटे हजारोंं लोग, एक करोड़ हाथ साथ-साथ कैंपेन के लिए एकजुट हुए लोग

नई दिल्‍ली। पिछले एक दशक में, सड़क दुर्घटनाएं लोगों के जीवन में चर्चा का विषय बनी हुई है। देश में अप्राकृतिक मृत्यु का सबसे बडा कारण सड़कों पर होने वाली मौतें हैं। लाखों भारतीय ड्राइवर सड़कों पर चलते हैं और उनमें से प्रतिदिन लगभग 400 लोग घर वापस नहीं आते हैं। इसका मुख्‍य कारण वाहन चालकों का खराब व्यवहार तथा Road Safety नियमों के प्रति लापरवाही है।

Organizing a campaign with one crore hands on Road Safety
D2S Organizing a campaign with one crore hands on Road Safety at India Gate

इस संबंध में जानीमानी एनजीओ डी2एस ने Road Safety Week के मौके पर इंडिया गेट में राष्ट्रीय मानव श्रृंखला “एक करोड़ हाथ साथ-साथ” कैंपेन का आयोजन किया। इस मुहिम से जुड़ने के लिए स्कुल, कॉलेज, विश्वविद्यालय, अथवा कई जानी-मानी संस्थाओं के लगभग 1500 छात्र-छात्राओं ने एकजुट होकर मानव श्रृंखला बनाई। इस मौके पर वहां मौजूद सभी लोगों ने यातायात नियमों का पालन करने का संकल्प लिया तथा एक साथ हाथ मिलाकर इस कैंपेन को आगे बढ़ाया।

इस मौके पर डी2एस के डायरेक्‍टर रामाशंकर पांडे ने एक ऐप भी लांच किया, जो वाहन चालकों का मूल्यांकन करेगा। इस ऐप का उपयोग लोग केवल कोड ऑफ़ कनडक्ट के 6 बिंदुओ पर अपने हस्ताक्षर कर फ्री में कर सकेंगे। उन्होंन रोड सेफ्टी के नियमों और अनुशासन के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए स्‍कूल, कॉलेज तथा कई प्राइवेट तथा सरकारी संगठनो के साथ मिलकर “सड़क सुरक्षा जीवन रक्षा” के नारे भी लगाए और इस एक्शन ओरिएंटेड कैंपेन के राष्ट्रीय मानव श्रंखला हैस टैग वन करोड़ हाथ साथ-साथ से जुड़ने की मुहिम को सफल बनाया। यह कैंपेन सड़कों पर यातायात संबंधी समझ में बदलाव को सामूहिक शक्ति देना तथा लोगों को रोड सेफ्टी के प्रति जागरूक करने के लिए किया गया। इस कैंपेन का उद्देश्य देश भर के 100 से अधिक शहरों में रोड सेफ्टी वीक 2019 में साथ जुड़ने के लिए है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »