Agra-university में खिलाड़ियों-अफसरों में बवाल, जमकर पथराव

आगरा। डॉ. भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय  Agra-university में गुरुवार को जमकर पत्थर चले। सुविधाएं मांगने पहुंचे खिलाड़ी अभद्रता पर आक्रोशित हो गए। सुरक्षाकर्मियों, कर्मचारियों और खिलाड़ियों के बीच हाथापाई के बाद उनको खदेड़ने पर आक्रोश भड़क गया। गुस्साए खिलाड़ियों ने जमकर पथराव किया। कुलसचिव, चीफ प्रोक्टर, कर्मचारी संघ अध्यक्ष और एक सुरक्षाकर्मी और विवि कर्मचारी घायल हो गया।

यूं शुरू हुआ विवाद
सुबह से विवि में अधिकारियों के आने का इंतजार कर रहे खिलाड़ियों ने कुलसचिव केएन सिंह को आते ही घेर लिया। खिलाड़ी अपनी समस्याओं को लेकर वार्ता करने लगे। चीफ प्रोक्टर प्रो. मनोज श्रीवास्तव और कर्मचारी संघ अध्यक्ष अखिलेश चौधरी भी मौजूद थे। बातचीत में विवाद शुरू हो गया। अधिकारियों और खिलाड़ियों में हाथापाई शुरू हो गयी। हाथापाई होते ही सुरक्षाकर्मियों और कर्मचारियों ने छात्रों को धकियाते हुए विवि से बाहर कर दिया।

यूं भड़के खिलाड़ी
विवि से धकियाए जाने के बाद बाहर निकलते ही खिलाड़ियों ने पत्थर बरसाने शुरू कर दिए। दोनों ओर से जमकर पत्थर बरसने लगे। कुलसचिव केएन सिंह, चीफ प्रोक्टर प्रो. मनोज श्रीवास्तव, कर्मचारी संघ अध्यक्ष अखिलेश चौधरी, एक सुरक्षाकर्मी और विवि कर्मचारी गंभीर रूप से घायल हो गए। पथराव के बाद खिलाड़ी भाग गए। घायलों को जीजी नर्सिंग होम में भर्ती कराया गया है।

छात्राओं का छेड़छाड़ का आरोप
बवाल में खिलाड़ियों के भाग जाने के बाद यहां मौजूद महिला खिलाड़ियों को कर्मचारियों ने घेर लिया। उन्हें रजिस्ट्रार कार्यालय में बंधक बनाकर अभद्रता और छेड़छाड़ की गई। बाद में पुलिस के पहुंचने पर महिला खिलाड़ियों ने राहत की सांस ली। पुलिस उन्हें थाने ले आई। यहां उन्होंने रजिस्ट्रार और चीफ प्रॉक्टर के खिलाफ छेड़छाड़ मारपीट की तहरीर दे दी थी।

ये थी वजह
विवि के विभिन्न खेलों की टीम में शामिल खिलाड़ी टीए-डीए न मिलने,अंतर्विश्विविद्यालयी प्रतियोगिताओं में टीमों को न भेजे जाने और टीमों को सुविधाएं न देने जैसी समस्याओं के संबंध में अफसरों से मिलने विवि पहुंचे थे।

डा. बीआरए विवि के कुलपति डा अरविंद कुमार दीक्षित ने कहा की प्रतियोगिताओं में टीमों को भेजने के निर्देश क्रीड़ाध्यक्ष को दे दिए गए थे। बजट की व्यवस्था भी कर दी गई थी। टेंडर प्रक्रिया शुरू हो गई थी। लॉ एंड ऑर्डर के मामले में विवि जो जरूरी होगा, कदम उठाएगा।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »