मेजर लीतुल गोगोई के खिलाफ कोर्ट ऑफ इनक्वायरी का आदेश

श्रीनगर। होटल में महिला को ले जाने से रोके जाने के बाद होटलकर्मियों के साथ उलझने को लेकर मेजर लीतुल गोगोई पर सेना ने सख्त रुख अख्तियार किया है। पहले सेना प्रमुख बिपिन रावत ने दो टूक कहा कि अगर मेजर गोगोई ने कुछ गलत किया है तो उन्हें उचित सजा मिलेगी। सेना प्रमुख के बयान के कुछ देर बाद ही सेना ने मेजर गोगोई के खिलाफ कोर्ट ऑफ इनक्वायरी का आदेश दे दिया। न्यूज़ एजेंसी एएनआई ने इंडियन आर्मी के हवाले से बताया कि सेना ने मेजर गोगोई के खिलाफ कोर्ट ऑफ इनक्वायरी का आदेश दिया है और जांच के नतीजों के आधार पर उचित ऐक्शन लिया जाएगा।
इससे पहले आर्मी चीफ बिपिन रावत ने कहा था कि अगर मेजर गोगोई ने कोई गलत काम किया है तो उन्हें उचित दंड दिया जाएगा। बता दें कि पत्थरबाज को जीप से बांधकर घुमाने के बाद चर्चा में आए मेजर गोगोई एक नए विवाद में फंस गए हैं। उन पर आरोप है कि जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में एक होटल में वह एक महिला के साथ घुसे थे। इसको लेकर विवाद भी हुआ था और उन्हें हिरासत में लेने के बाद छोड़ दिया गया था।
इस पर आर्मी चीफ बिपिन रावत ने कहा, ‘भारतीय सेना में कोई भी (किसी भी रैंक का) अगर कुछ गलत करता है और यह हमारे संज्ञान में आता है तो कड़ी कार्यवाही की जाएगी। अगर मेजर गोगोई ने कुछ गलत किया है तो मैं कह सकता हूं कि उन्हें उचित दंड दिया जाएगा और दंड भी ऐसा होगा जो एक उदाहरण स्थापित करेगा।’
होटल में हुआ था विवाद
बता दें कि बुधवार को एक होटल में महिला संग घुसने से रोके जाने के बाद विवाद हुआ और होटल के लोगों ने पुलिस बुलाई, जिसके बाद पुलिस ने मेजर गोगोई को हिरासत में लिया और पूछताछ के बाद छोड़ दिया। मैजिस्ट्रेट के सामने महिला का बयान दर्ज कराए जाने के बाद उन्हें भी छोड़ दिया गया। तमाम दस्तावेजों के आधार पर यह साबित हुआ है कि महिला नाबालिग नहीं हैं। पुलिस जांच कर रही है, लेकिन महिला के परिवार की मांग है कि यह केस बंद कर दिया जाए।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »